रीवा: हितग्राहियों को पट्टा देने मंच पर थे उद्योग मंत्री, मच गई अफरातफरी, जानिए क्या थी वजह…

Rewa

रीवा रियासत


रीवा। नगर निगम द्वारा मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना अन्तर्गत हितग्राहियों को लाभांवित करने बुधवार को मानस भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में उस समय हड़कंप मच गया, जब हितग्राहियों को स्थाई पट्टा देने के लिए मुख्य अतिथि उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुला मंच पर हितग्राहियों का इंतजार करते रहे और संबंधित फाइल लेकर जिमेदार बाबू कार्यक्रम स्थल से गायब हो गया। फिर या था एक ओर निगम अधिकारी बाबू की खोज कर रहे थे तो दूसरी ओर मंत्री मंच में इंतजार कर रहे थे। हालांकि बाद में बिना वितरण किए ही कार्यक्रम का समापन कर दिया गया और लापरवाह बाबू को निलंबित कर दिया गया है। बुधवार को आयोजित कार्यक्रम में मुयमंत्री आवास योजना के तहत निगम द्वारा चिह्नित किए गए 56 हितग्राहियों को स्थाई पट्टा देने के लिए मुख्य अतिथि राजेन्द्र शुल मंच पर थे।

कार्यक्रम में मची अफरातफरी

संचालक द्वारा अतिथि द्वारा हितग्राहियों को पट्टा देने की बात कही गई। जैसे ही मंत्री मंच पर तैयार हुए, वैसे ही कार्यक्रम में अफरा-तफरी मच गई। कारण यह था कि जिस फाइल से हितग्राहियों की घोषणा की जानी थी, वह फाइल ही निगम के राजस्व विभाग का बाबू नवीन भारती लेकर गायब हो गया था। करीब 15 मिनट तक बाबू की खोज चलती रही, लेकन वह नहीं मिला और न ही संबंधित फाइल मिली। निगम अधिकारी भी संबंधित बाबू की खोज में लगे रहे। हालांकि बाद उद्योगमंत्री ने सभी वार्डों में पार्षदों से स्थाई पट्टा हितग्राहियों को दिलाने की बात कहते हुए पट्टा वितरण कार्यक्रम को स्थगित कर दिया। इसके बाद योजना के तहत पट्टा लेने पहुंचे हितग्राही वापस लौट गए।



आयुक्त ने किया निलंबित

बाबू की इस लापरवाही से कार्यक्रम में पड़े विध्न और मंत्री की नाराजगी पर उसे निगमायुक्त आरपी सिंह ने निलंबित कर दिया है। बताया गया कि बाबू की डयूटी कार्यक्रम में योजना के तहत पट्टा वितरण के लिए लगाई गई थी, लेकिन वह बिना अधिकारियों को जानकारी दिए कार्यक्रम से फाइल लेकर गायब हो गया।

हितग्राही हुए लाभांवित

उद्योग मंत्री द्वारा उज्ज्वला योजना के तहत 29 हितग्राहियों को गैस चूल्हा एवं सिलेण्डर, लाडली लक्ष्मी योजना के तहत 11 हितग्राहियों को योजना की राशि का वितरण, एनयूएलएम योजना के तहत यूबी ब्यूटी वेलनेश प्रशिक्षण प्राप्त 40 छात्राओं को एक लाख 70 हजार रुपये, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत 10 हितग्राहियों को पुत्री की शादी विवाह सहायता योजना के तहत 8 हितग्राहियों को दो लाख रुपये का वितरण, मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना के तहत सामान्य एवं दुर्घटना मृत्यु पर 20 लाख रुपये की अनुग्रह राशि का वितरण एवं इसी योजना के तहत नौ हितग्राहियों को 45 हजार रुपये अंत्येष्टि सहायता की राशि का वितरण किया गया।



Facebook Comments