भाई से मिलने आया था उसका दोस्त तो छोटी बहन ने कहा – घर पर नहीं हैं भईया, बोला – तुम तो हो…1 min read

Crime

रायगढ़: दोस्ती की कसमें खाने वाले एक दोस्त ने ही दूसरे की पीठ पर वार कर दिया। दोस्त की नाबालिग बहन को ही अपनी हवस का शिकार बना डाला। आरोपी तब अपने दोस्त के घर गया जब वो घर पर नहीं था। जिसके बाद लड़की को अकेला देखकर उसकी नीयत बिगड़ गई। जिसके बाद 16 साल की मासूम बस चीखती चिल्लाती रह गई। लेकिन वहां उसे बचाने वाला कोई नहीं था। जब भाई घर पर वापस आया तोण्ण्ण्ण्

अपने 2 भाइयों के साथ अकेली रहती थी नाबालिग
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित 16 साल की है। जो अपने 2 सगे भाइयों के साथ रहती थी। उसके दोनों भाई रोजी.मजदूरी का काम करते हैं। घटना के दिन नाबालिग का एक भाई मजूदरी करने गया था। वहीं दूसरा भाई मारपीट मामले में कोर्ट चालान पेश करने गया था। इस दौरान नाबालिग घर पर अकेली थी।

तभी दोपहर करीब 12 बजे गांव का ही त्रिनाथ उरांव उर्फ राजू अपने दोस्त से मिलने घर आया। दरवाजा खोलने के बाद लड़की ने बताया कि भइया अभी घर पर नहीं है। इसके बाद आरोपी नाबालिग को अकेली पाकर घर में घुस गया। लड़की ने इसका विरोध करने लगी। तो उसने उसका मुंह दबाकर घर के अंदर ले गया। जिसके बाद उसके साथ जबरदस्ती की। उसके बाद वह उसे डराकर वहां से चला गया।

जब वापस आया भाई

कोर्ट से जब नाबालिग का भाई घर पहुंचा तो लड़की ने रोते हुए जमीन पर पड़ी थी। भाई ने उससे जब पूछा तो वो ओरे रोने लगी। जिसके बाद उसने अपने भाई को घटना की जानकारी दी। इसके बाद उसका भाई नाबालिग को लेकर थाने पहुंचा। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376ए 4.6 पॉस्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। मामले की जांच चल रही है।

चक्रधरनगर के टीआई युवराज तिवारी ने बताया कि नाबालिग का एक भाई मजूदरी करने गया था। वहीं दूसरा भाई मारपीट मामले में कोर्ट चालान पेश करने गया था। तभी आरोपी ने नाबालिग को अकेली पाकर घर में घुसा और उसके साथ जबरन अनाचार किया। आरोपी नाबालिग के भाई के दोस्त भी हैए जोकि उसके साथ मिस्त्री का काम करता है। नाबालिग की रिपोर्ट पर अपराध दर्ज कर लिया गया है।

Facebook Comments