मुख्यमंत्री आज सागर में, प्रदेश के 16 निकायों में ई-लोकार्पण करेंगे, साथ ही हितग्राहियों से संवाद भी होगा

यह क्षेत्र बनेगा मध्यप्रदेश का 53वां जिला, सीएम शिवराज सिंह ने की घोषणा1 min read

Bhopal Madhya Pradesh

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने चंदला को 53वां जिला बनाने की घोषणा की है।मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा आज शाम छतरपुर जिले के कुरेला, बछौन होते हुए चंदला पहुंची, जहां मुसलाधार बारिश के बीच उमड़े जनसैलाब ने मुख्यमंत्री का पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। सभा के दौरान चंदला को जिला बनाने की जनता की मांग पर उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि पूरी प्रक्रिया के बाद चंदला को जिला बनाया जायेगा। जनता ने घोषणा पर तालियों की गड़गड़ाहट के साथ निर्णय का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री का कांग्रेस पर कटाक्ष

श्री चौहान ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कुछ लोग मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के सपने देख रहे है। सपने देखने वालों को इस बात का हिसाब देना पड़ेगा कि देश में 70 साल तक कांग्रेस और 55 साल तक एक ही परिवार ने शासन किया, फिर भी गरीब, किसान, मजदूर सहित हर वर्ग पिछड़ेपन से दुखी रहा। मुख्यमंत्री ने कहा 2003 के पूर्व कांग्रेस के शासनकाल में किसानों को 18 प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता था अब 0 के बाद माइनस 10 प्रतिशत ब्याज दर पर अल्पकालीन फसल ऋण देने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। बीमारू कहलाने वाला मध्यप्रदेश आज विकसित राज्यों की श्रेणी में खड़ा है। आज मध्यप्रदेश की विश्व में सबसे ज्यादा कृषि विकास दर है। किसानों के अथक् परिश्रम से प्रदेश पांच बार कृषि कर्मण अवार्ड प्राप्त करने में सफल हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा 2003 के पूर्व कांग्रेस के शासनकाल में किसानों को 18 प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता था अब 0 के बाद माइनस 10 प्रतिशत ब्याज दर पर अल्पकालीन फसल ऋण देने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। बीमारू कहलाने वाला मध्यप्रदेश आज विकसित राज्यों की श्रेणी में खड़ा है। आज मध्यप्रदेश की विश्व में सबसे ज्यादा कृषि विकास दर है। किसानों के अथक् परिश्रम से प्रदेश पांच बार कृषि कर्मण अवार्ड प्राप्त करने में सफल हुआ है।

AKANKSHA-MISS-DELHI

यह भी पढ़ें : PICS: रीवा की आकांक्षा के सौंदर्य ने देश की राजधानी में मचाया धमाल, चुनी गईं ‘MISS DELHI’

modi-govt

यह भी पढ़ें : सभी जातियों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की चर्चा कर रही है सरकार

खेती किसानी के संबंध में तेजी से निर्णय लेने के लिए कृषि कैबिनेट और कृषि के लिए अलग से बजट बनाकर किसानी को फायदे का धंधा बनाने का काम किया है। कांग्रेस के राज में खाद के लिए किसान को लाठियां खाना पड़ती थी और आज खाद प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। कांग्रेस की सरकार में फसलों का बीमा नहीं मिलता था। दुर्घटना में किसी की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो जाती थी, तो उसका परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ता था, लेकिन प्रदेश सरकार ने फसल बीमा के पुख्ता इंतजाम किए हैं और संबल योजना के तहत दुर्घटना में या सामान्य मृत्यु पर भी परिवार को आर्थिक सहारा देने की ठोस योजना बनाई है।

श्री चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार गांव, गरीब और किसानों की सरकार है। देश और प्रदेश के गरीबों के जीवन में बदलाव आए, इस दिशा में भाजपा सरकारें लगातार काम कर रही है। कांग्रेस कहती है कि गरीबी हटाओं लेकिन कांग्रेस ने गरीबी के बजाएं, गरीबों को हटाने का काम किया है।

Facebook Comments