PUNE TEST: Team India ने South Africa को पारी से चटाई धूल, सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त 1

PUNE TEST: Team India ने South Africa को पारी से चटाई धूल, सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त

Sports National

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में पारी और 137 रनों से मात देकर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है. इसी के साथ ही भारत ने टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली है और फ्रीडम ट्रॉफी पर कब्जा जमाया है. सीरीज का एक मैच खेला जाना बाकी है. रांची में 19 अक्टूबर से तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच खेला जाएगा. पुणे टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने 5 विकेट पर 601 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित कर दी. जवाब में भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 275 रनों पर समेट दिया.

पहली पारी के आधार पर भारत को 326 रनों की बढ़त मिली. अफ्रीकी टीम फॉलोऑन नहीं बचा पाई, जिसके बाद उन्हें फिर से बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा. फॉलोऑन मिलने के बाद दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका 189 रनों पर ढेर हो गई. पारी के लिहाज से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह सबसे बड़ी जीत है. भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पिछली बार 2008 में पारी और 90 रन से हराया था. साथ ही टीम इंडिया की घरेलू मैदान पर ये लगातार 11वीं सीरीज जीत है. पिछली बार उसे 2012 में इंग्लैंड ने हराया था.

भारत के लिए दूसरी पारी में रवींद्र जडेजा और उमेश यादव ने तीन-तीन विकेट लिए, जबकि रविचंद्रन अश्विन को दो सफलताएं मिलीं. मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा ने एक-एक विकेट झटके. दूसरी पारी में अफ्रीका के लिए डीन एल्गर ने सबसे अधिक 48 रन बनाए, जबकि टेम्बा बावूमा ने 38 तथा वर्नोन फिलैंडर ने 37 रनों की पारी खेली.

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को फॉलोऑन देने का फैसला किया. कप्तान विराट कोहली के इस फैसले को भारतीय गेंदबाजों ने सही साबित किया. सलामी बल्लेबाज एडेन मार्करम बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए और 21 रन के कुल स्कोर पर थ्यूनिस डि ब्रूइन (8) के रूप में दक्षिण अफ्रीका को दूसरा झटका लगा. मार्करम को ईशांत शर्मा और डि ब्रूइन को उमेश यादव ने पवेलियन की राह दिखाई.

इसके बाद, कप्तान फाफ डु प्लेसिस और डीन एल्गर के बीच तीसरे विकेट के लिए 49 रनों की साझेदारी हुई. डु प्लेसिस (5) को आउट करके रविचंद्रन अश्विन ने इस साझेदारी को तोड़ा. उन्होंने एल्गर को 48 के निजी स्कोर पर आउट करके मेहमान टीम को चौथा झटका दिया.

विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डि कॉक को पांच रन के निजी स्कोर पर ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने अपना शिकार बनाया. छठे विकेट के लिए उप-कप्तान टेम्बा बावूमा और सेनुरन मुथुसामी के बीच 46 रनों की साझेदारी हुई. बावूमा (38) को आउट करके इस साझेदारी को जडेजा ने तोड़ा. मुथुसामी भी ज्यादा देर टिक नहीं सके और नौ के निजी स्कोर पर तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का शिकार हुए.

इसके बाद एक बार फिर वर्नोन फिलैंडर और केशव महाराज ने 56 रनों की साझेदारी कर भारत के जीत के इंतजार को बढ़ाया. दोनों खिलाड़ियों ने पहली पारी में भी नौवें विकेट के लिए 119 रनों की साझेदारी की थी. हालांकि उमेश यादव ने अपने एक ही ओवर में पहले फिलैंडर और फिर कैगिसो रबाडा को आउट करके भारत को जीत की दहलीज पर खड़ा कर दिया. आखिरी विकेट के रूप में केशव महाराज को जडेजा ने आउट कर भारत को जीत दिला दी.

दक्षिण अफ्रीका पहली पारी में 275 रनों पर ऑलआउट
भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 275 रनों पर समेट दिया. भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन ने चार, तेज गेंदबाज उमेश यादव ने तीन, मोहम्मद शमी ने दो और रवींद्र जडेजा ने एक विकेट हासिल किया. अश्विन ने इसके साथ ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने 50 विकेट पूरे कर लिए हैं. दक्षिण अफ्रीका की ओर से निचले क्रम के बल्लेबाज केशव महाराज ने 132 गेंदों पर 12 चौकों की मदद से सर्वाधिक 72 रन बनाए.

महाराज के अलावा कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने 64, वर्नोन फिलैंडर ने नाबाद 44 , थ्यूनिस डि ब्रुइन ने 30 और क्विंटन डि कॉक ने 31 रन बनाए. महाराज और फिलैंडर ने नौवें विकेट के लिए 109 रनों की साझेदारी की. विशाल स्कोर के सामने दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत बेहद खराब रही. उमेश यादव ने एडेन मार्कराम को दो के कुल स्कोर पर ही पवेलियन भेज मेहमान टीम को दबाव में ला दिया. मार्कराम खाता भी नहीं खोल पाए. दूसरे सलामी बल्लेबाजी भी उमेश की गेंद पर गच्छा खा गए.

उमेश की उछाल भरी गेंद को डीन एल्गर (6) छोड़ना चाहते थे लेकिन गेंद बल्ले से टकरा कर स्टम्प पर जा लगी. उमेश एक छोर से बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे थे और मोहम्मद शमी दूसरे छोर से दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों की परीक्षा ले रहे थे. उन्हें आखिरकार टेम्बा बावुमा (8) का विकेट मिला. दक्षिण अफ्रीका ने 41 के कुल योग पर एनरिक नोर्टजे (3) के रूप में अपना चौथा विकेट खोया. नोर्टजे को तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पवेलियन की राह दिखाई.

थ्यूनिस डी ब्रुइन भी ज्यादा देर तक क्रीज पर टिक नहीं पाए और 30 के निजी स्कोर पर उमेश यादव का शिकार बने. यादव ने उन्हें विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच आउट कराया. इसके बाद, कप्तान फाफ डु प्लेसिस और क्विंटन डी कॉक के बीच छठे विकेट के लिए 75 रनों की साझेदारी हुई. हालांकि, रविचंद्रन अश्विन ने डि कॉक (31) को पवेलियन भेजकर इस साझेदारी को तोड़ दिया.

सेनुरन मुथुसामी सात रन के निजी स्कोर पर रवींद्र जडेजा का शिकार बने. एक छोर पर टिके कप्तान फाफ डु प्लेसिस (64) भी ज्यादा देर तक अपनी टीम को संभाल नहीं सके. उन्हें रविचंद्रन अश्विन ने पवेलियन की राह दिखाई. अश्विन ने महाराज को रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराके भारत को अहम सफलता दिलाई. महाराज ने 132 गेंदों पर 12 चौके लगाए. उनका यह पहला अर्धशतक है. अश्विन ने इसके बाद कैगिसो रबाडा (2) को भी आउट करके दक्षिण अफ्रीका को 275 रनों पर समेट दिया.

भारत ने 601/5 पर घोषित की पहली पारी
भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपनी पहली पारी पांच विकेट पर 601 रन बनाकर घोषत कर दी. विराट कोहली ने नाबाद 254 रन बनाए. कोहली ने अपने टेस्ट करियर का अब तक का सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाया. कोहली ने अपनी नाबाद पारी में 336 गेंदों का सामना कर तीन चौके और दो छक्के मारे. जडेजा ने 104 गेंदों का सामना किया. उन्होंने अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए.

इन दोनों के अलावा मयंक अग्रवाल ने 195 गेंदों पर 16 चौके और दो छक्कों की मदद से 108 रनों की पारी खेली. उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने 59 और चेतेश्वर पुजारा ने 58 रनों का योगदान दिया. दक्षिण अफ्रीका के लिए कैगिसो रबाडा ने तीन, केशव महाराज और सेनुरान मुथुसामी ने एक-एक विकेट लिया.

टेस्ट में कोहली का सातवां दोहरा शतक
कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट करियर का सातवां दोहरा शतक जड़ दिया है. दिलचस्प बात यह है कि अपने सभी सात दोहरे शतक कोहली ने बतौर कप्तान लगाए हैं. कोहली कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में टॉप पर हैं. इस लिस्ट में वेस्टइंडीज के दिग्गज ब्रायन लारा 5 दोहरे शतकों के साथ दूसरे नंबर पर हैं.

बतौर कप्तान टेस्ट में सबसे ज्यादा दोहरे शतक

7 – विराट कोहली

5 – ब्रायन लारा

4 – सर डॉन ब्रैडमैन/ग्रीम स्मिथ/माइकल क्लार्क

26वां टेस्ट शतक ठोक विराट ने बनाया रिकॉर्ड
कप्तान विराट कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 26वां शतक जड़ दिया है. कोहली ने अपने 81वें टेस्ट मैच की 138वीं पारी में अपना 26वां टेस्ट शतक लगाया. कोहली टेस्ट क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे कम पारियों में 26 शतक लगाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में दूसरे पायदान पर आ गए हैं. भारत की ओर से सचिन तेंदुलकर ने 136 पारियों में यह मुकाम हासिल किया था, वहीं सुनील गावसकर ने 144 पारियों में 26 टेस्ट सेंचुरी लगाई थीं.

सबसे कम पारियों में 26 टेस्ट शतक लगाने की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन इस फेहरिस्त में टॉप पर हैं. ब्रैडमैन ने 69 पारियों में यह 26 शतक लगाए थे. ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ 121 पारियों में 26 शतक लगाए थे. स्मिथ ने हाल ही में एशेज सीरीज में यह मुकाम हासिल किया था. दुनिया के नंबर वन टेस्ट बल्लेबाज स्मिथ ने एशेज में 774 रन बनाए थे.

मयंक अग्रवाल ने लगातार दूसरे टेस्ट में जड़ा शतक
मयंक अग्रवाल ने अपनी शानदार फॉर्म बरकरार रखते हुए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में शतक लगाया. यह मयंक के टेस्ट करियर का दूसरा शतक था. मयंक अग्रवाल ने 108 रनों की पारी खेली, इस दौरान उन्होंने 16 चौके और 2 छक्के लगाए. बता दें कि मयंक अग्रवाल भारत में अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे हैं.

मयंक अग्रवाल ने विशाखापत्तनम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भी शतक लगाया था जो उनका पहला टेस्ट शतक था जिसे वो दोहरे में तब्दील करने में सफल रहे थे. तब मयंक ने 215 रनों की पारी खेली इस दौरान उन्होंने 23 चौके और 6 छक्के लगाए थे.

भारत की पारी
पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारत ने धीमी शुरुआत की. शुरुआत में गेंद हरकतें कर रही थी और इसी कारण दोनों सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल संभल कर खेल रहे थे. कैगिसो रबाडा की एक ऐसी ही गेंद रोहित के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर विकेटकीपर क्विंटन डि कॉक के हाथों में चली गई.

रोहित ने 35 गेंदों का सामना किया और सिर्फ एक चौका मारा. रोहित 14 रन बनाकर आउट हो गए. कैगिसो रबाडा ने ही चेतेश्वर पुजारा (58) को आउट कर भारत को दूसरा झटका दे दिया. आउट होने से पहले पुजारा ने मयंक के साथ दूसरे विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी की. पुजारा ने 112 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से 58 रन बनाए.

रबाडा की एक बेहतरीन आउटस्विंगर पुजारा के बल्ले से बाहरी किनारा लेकर स्लिप में गई जहां कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने अच्छा कैच पकड़ा. अग्रवाल अपने करियर का दूसरा शतक पूरा करने में कामयाब रहे, लेकिन वह ज्यादा देर तक कोहली का साथ नहीं निभा पाए. अग्रवाल का विकेट भी रबाडा ने चटकाया. रबाडा ने अग्रवाल को 108 रनों के निजी स्कोर पर फाफ डु प्लेसिस के हाथों कैच आउट कराया.

अजिंक्य रहाणे 59 रन बनाकर केशव महाराज की गेंद पर विकेटकीपर डि कॉक के हाथों कैच आउट हुए. उन्होंने कोहली के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 178 रन की साझेदारी की. दोनों के बीच किसी भी विकेट के लिए ये 10वीं शतकीय साझेदारी थी. रवींद्र जडेजा ने करियर का 12वां अर्धशतक लगाया. जडेजा ने कोहली के साथ पांचवें विकेट के लिए 225 रन साझेदारी की. दक्षिण अफ्रीका के लिए कैगिसो रबाडा ने तीन विकेट लिए. केशव महाराज और सेनुरान मुथुसामी को एक-एक सफलता मिली.

टीम इंडिया ने जीता टॉस
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और मेजबान अफ्रीका को गेंदबाजी सौंपी. टीम इंडिया में एक बदलाव हुआ है. हनुमा विहारी की जगह उमेश यादव को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया गया है. वहीं साउथ अफ्रीका ने डेन पीट की जगह एरिक नॉर्टजे को अंतिम 11 में शामिल किया है.

यह टेस्ट मैच विराट कोहली का बतौर कप्तान 50वां टेस्ट मैच है. वह ऐसा करने वाले भारत के दूसरे कप्तान हैं. उनसे पहले महेंद्र सिंह धोनी ने भारत के लिए 50 से ज्यादा टेस्ट मैचों में कप्तानी की है.

प्लेइंग इलेवन
भारत: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव और ईशांत शर्मा.

दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), टेम्बा बावूमा, थ्युनिस डि ब्रुइन, क्विंटन डि कॉक, डीन एल्गर, केशव महाराज, एडेन मार्करम, सेनुरन मुथुसामी, एरिक नॉर्टजे, वर्नोन फिलेंडर और कैगिसो रबाडा.

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •