रीवा: पादरी पर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप, क्षेत्र में हंगामा1 min read

Rewa

रीवा। मनगवां कस्बे के अलग-अलग क्षेत्रों में लंबे समय से ईसाई मिशनरी द्वारा कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है, जहां ईसाई धर्म के प्रति आस्था रखने वाले लोग मिशनरी की प्रार्थना में शामिल हो रहे हैं।

बताया जा रहा है कि मिशनरी के आयोजन के पीछे धर्म परिवर्तन का खेल चला रहा है, जिसमें दलित आदिवासियों के साथसाथ गरीब व असहाय परिवार के लोगों को पैसे का लालच देकर धर्मान्तरण किया जा रहा है। अब तक लगभग दो सैकड़ा लोगों का धर्म परिवर्तन किया जा चुका है। यह आरोप लगाते हुए रविवार सुबह हिन्दू स्वाभिमान सेना व सपास संगठन के युवाओं ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है। हिन्दू स्वाभिमान सेना की शिकायत पर पादरी सहित उनकी पत्नी व एक सहायिका को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इसके बाद दोनों पक्ष से लोगों की भीड़ मनगवां थाने पहुंच गई और गहमागहमी का माहौल निर्मित हो गया।

पुलिस ने लोगों को आश्वस्त करते हुये कहा कि मामले की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी। आरोप है कि पिछले 12 साल यह धर्म परिवर्तन का खेल चल रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक मनगवां थाना क्षेत्र के ग्राम नदहा निवासी महेश्वर प्रिया के मकान में सतना टिकुरिया टोला निवासी पादरी इंद्रपाल भारती हर रविवार को ईसाई मिशनरी का कार्यक्रम आयोजित कर रहे थे।

बताया गया कि रविवार सुबह तकरीबन 11 बजे हिंदू स्वाभिमान सेना एवं सपास संगठन के सैकड़ों युवक मिशनरी में पहुंचे तथा धर्मांतरण का आरोप लगाने लगे और मोहन कुमार नामक युवक को साथ में ले गए। उसने बताया कि मुझे 5 हजार रुपये देकर ईसाई धर्म अपनाने के लिए इंद्रपाल पादरी कह रहे थे। इस बात को लेकर देखते ही देखते वहां हंगामा खड़ा हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस हंगामे को देखते हुये पादरी इंद्रपाल भारती, उनकी पत्नी ममता भारती तथा सहायिका शर्मिला पटेल को थाने ले गई। इसके बाद दोनों पक्ष से सैकड़ों लोग थाना परिसर में एकत्रित हो गए। पुलिस ने मामला गंभीर देख मामले की जांच करने का आश्वासन दिया है। इस मौके पर स्वाभिमान सेना के अखिल सोनी, मांधाता तिवारी, अमरीश शर्मा, कमलेश सोनी, बृजभूषण मिश्रा, रामबहोर गुप्ता, रजनीश गुप्ता, भूपेंद्रमणि अग्निहोत्री आदि लोग उपस्थित रहे।


Facebook Comments