रीवा में भारी तूफान और बारिश का कहर, आने वाले 24 घंटो में होगा ये... 1

रीवा में भारी तूफान और बारिश का कहर, आने वाले 24 घंटो में होगा ये…

Madhya Pradesh Rewa

छतरपुर. सूरज की तपिश बढऩे से जिले में कई जगह लोकल सिस्टम बनने से बादल छाए और बूंदाबांदी भी हुई। बमीठा इलाके के जंगीपुरा में शनिवार रात को बूंदाबांदी हुई, जबकि आसपास के इलाके में बादल छाए रहे। वहीं, अब अरब सागर से आ रही दक्षिण पश्चिमी हवाओं से मौसम में बदलाव की संभावना है। दक्षिण पश्चिमी हवाओं में नमी है, जबकि राजस्थान से आ रही हवाएं गर्म हैं। इन दोनों हवाओं के मिलने से जिले में आंधी आने व धुंध छाने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। मौसम विभाग के मुताबिक 13 से 15 मई के बीच मौसम में बदलाव देखा जा सकता है।
दक्षिण पश्चिमी हवाएं 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण पश्चिमी हवाओं में आद्र्रता है, वहीं राजस्थान और गुजरात से आ रही है हवाएं गर्म और ठंडी हैं, जिससे बारिश नहीं होगी, लेकिन तेज हवाओं और आंधी के हालात बने रहेंगे। अगले 24 घंटे गर्मी से राहत मिलने की संभावना भी जताई जा रही है। मौसम विभाग के अनुसार, धूल भरी आंधी के साथ गरज चमक की स्थिति भी बन सकती है। दिन का तापमान 40 डिग्री के आसपास आ सकता है।
बिहार से लेकर दक्षिणी छत्तीसगढ़ तक 0.9 किमी ऊंचाई पर एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। इससे जबलपुर, रीवा समेत मप्र के पूर्वी हिस्से में बारिश हुई। राजस्थान के पूर्वी हिस्से में ऊपरी हवा का चक्रवात बना है। इस वजह से वहां तपिश ज्यादा नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार दमोह, सागर, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, उमरिया, अनूपपुर, डिंडौरी, जबलपुर, कटनी, सिवनी, गुना, शिवपुरी, राजगढ़ बैतूल और मंडला आदि जिलों में गरज चमक के साथ तेज हवा 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है।
किसानों के लिए दी सलाह- धूल भरी आंधी के साथ- साथ एक दो स्थानों में बूंदाबांदी की संभावना को देखते हुए कृषि विभाग ने किसानों के लिए सलाह दी है। जिले में दवा की गति 15 से 19 किलोमीटर प्रति घंटा रहने की संभावना को देकते हुए किसानों को पान की फसल को गिरने से बचाव हेतु उचित उपाय करने की सलाह दी गई है।
इसके साथ ही बेर की काट-छांट और अमरुद में प्रूनिंग का कार्य करने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही तेज हवा चलने पर पशुशालाओं के गिरने की आशंका को देखते हुए कच्ची छत वाली पशुशालाओं के मरम्मत की बात भी कही गई है। इसके अलावा बैंगन तथा टमाटर की फ सल में फल वेधक कीट का प्रकोप देखते हुए किसानों को मैलाथियान 50 ईसी दवा की 1 मिली लीटर मात्रा प्रति लीटर पानी में घोल बनाकर आसमान साफ रहने पर छिड़काव करने की सलाह दी गई है।

छतरपुर के लिए चेतावनी
भोपाल मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अलग-अलग स्थानों पर तेज हवाओं के साथ कुछ स्थानों पर धूल भरी आंधी और गरज के साथ बौछारें भी पड़ सकती है। पूर्वानुमान के अनुसार छतरपुर, अनूपपुर, बालाघाट, बैतूल, भोपाल, छिंदवाड़ा, दमोह, डिंडोरी, हरदा, होशंगाबाद, जबलपुर, कटनी, खंडवा (पूर्वी निमाड़), मंडला, नरसिंहपुर के मौसम में बदलाव हो सकता है। वहीं, पन्ना, रायसेन, रीवा, सागर, सतना, सीहोर, सिवनी, शहडोल, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़, उमरिया और विदिशा में भी मौसम में परिवर्तन देखा जा सकता है।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •