जनसुनवाई में पंहुचा ऐसा मामला की जिसने भी सुना हैरान हो गया | REWA NEWS1 min read

Rewa

रीवा. कलेक्टर कार्यालय की जनसुनवाई में इस मंगलवार को जिले में अवैध क्रशर प्लांट और खदानों में विस्फोट का मामला पहुंचा। विशेष अभियान पखवाड़ा के बाद भी फील्ड में कार्रवाई नहीं की जा रही है। तभी तो अवैध क्रशर प्लांटों का मामला अफसरों की टेबल तक पहुंचा।

खदानों में हो रहा विस्फोट
जनसुनवाई के दौरान आवेदक पुष्पेन्द्र पाठक सहित छह अन्य लोगों ने आवेदन देकर बताया कि साहब बैजनाथ, बेला, हिनौती, खम्हरिया, भोलगढ़, सोनरा और मध्येपुर में अवैध रूप से स्टोन क्रशर प्लांट चल रहे हैं।आस-पास की खदानों में विस्फोट का अवैध उपयोग किया जा रहा है। कई बार खनिज अधिकारियों से शिकायत की गई, बावजूद इसके कार्रवाई नहीं की गई। मामले में अपर कलेक्टर ने पंचायत अधिकारी से जांच कर जानकारी मांगी है। कलेक्ट्रेट की जनसुनवाई में कुल 118 आवेदन पहुंचे। ज्यादातर मामले राजस्व के रहे। सुनवाई के दौरान जिला पंचायत सीइओ एवं अपर कलेक्टर विकास मयंक अग्रवाल, एडीएम बीके पाण्डेय तथा अपर कलेक्टर इला तिवारी ने बारी-बारी से आवेदनों की सुनवाई की।

जनसुनवाई में 300 से 500 कर दी पेंशन
जन सुनवाई में लालगांव निवासी सुरेन्द्र शर्मा ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए आवेदन दिया। मुख्य कार्यपालन अधिकारी मयंक अग्रवाल ने संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय को प्रकरण में तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए। जन सुनवाई में ही सुरेन्द्र शर्मा की सामाजिक सुरक्षा पेंशन मंजूर कर उसका आदेश पत्र प्रदान किया गया। इसी तरह जन सुनवाई में बैसाखू साकेत निवासी रामनई तथा रामभुवन साकेत निवासी गोरगांव ने उनकी आयु 80 वर्ष से अधिक होने पर वृद्धावस्था पेंशन की राशि में वृद्धि के लिए आवेदन दिया। सीइओ के निर्देश पर संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय सुचिता तिर्की ने दोनों आवेदकों की पेंशन राशि 300 रुपए से बढ़ाकर 500 रुपए करने का आदेश जारी किया।

दो दिन में मिल जाएगी अनुग्रह राशि
जन सुनवाई में रीवा निवासी सबीना बेगम द्वारा उनके पति की मृत्यु पर संबल योजना के तहत अनुग्रह राशि के लिए आवेदन दिया। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने आयुक्त नगर निगम को अनुग्रह राशि प्रदान करने के निर्देश दिये। इस संबंध में बताया गया कि अनुग्रह राशि मंजूर कर दी गई है। इसका दो दिवस में भुगतान कर दिया जएगा।

अतिथि शिक्षकों-आंगनबाड़ी की नियुक्ति प्रक्रिया में गड़बड़ी की जांच होगी
जन सुनवाई में हरदिहा निवासी दशरथ पटेल सहित पांच अन्य ने अतिथि शिक्षकों ने नियुक्ति प्रक्रिया में अनियमितता की जांच के लिए आवेदन दिया। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने जिला शिक्षा अधिकारी को जांच कर कार्यवाही के निर्देश दिए। जन सुनवाई में छ: आवेदकों ने आशा कार्यकर्ता नियुक्ति के संबंध में आवेदन दिया। मामले में सीएमएचओ को सभी प्रकरणों में जांच कर कार्यवाही के निर्देश दिए।

पचास फीट पीसीसी सडक़ का बगैर निर्माण आहरित कर ली गई राशि
जनसुनवाई में ग्राम पंचायत हर्दी शंकर वार्ड क्रमांक-७ में बिना पचास फीट से अधिक एरिया में पीसीसी सडक़ का निर्माण नहीं कराया गया। मामले में गांवके ही जयपाल पटेल आदि ने आवेदन देकर सीइओ को बताया कि गांव में १२० मीटर की लंबाई में ३ मीटर चौड़ी पीसीसी सड़ का निर्माण तीन लाख रुपए में कराया जाना था। जिसमें सरपंच के द्वारा रमकलेश के घर के पास करीब ५० फीट सडक़ निर्माण छोड़ दिया गया है। जबकि पीसीसी सडक़ का पूरा पैसा आहरित कर लिया गया है। मामले में सीइओ ने जांच रिपोर्ट तलब की है।

Facebook Comments