मध्यप्रदेश : मतदान के बाद सीएम शिवराज का बड़ा बयान, हमारी इसलिए बन रही सरकार 1

मध्यप्रदेश : मतदान के बाद सीएम शिवराज का बड़ा बयान, हमारी इसलिए बन रही सरकार

Madhya Pradesh

उज्जैन। मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को हुए मतदान के बाद पहली बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बयान आया है। चौहान ने कहा कि हम पूर्ण बहुमत से सरकार में आएंगे और जनता की सेवा में जुटेंगे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं बुदनी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर दर्शन करने गए थे। उन्होंने महाकाल मंदिर में पूजा-अर्चना की। चौहान के साथ उनकी पत्नी साधना सिंह एवं दोनों पुत्र भी थे।

चौहान ने मीडिया से कहा कि मैं हमेशा महाकाल आता हूं, आज भी आकर प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की है। चौहान ने 200 पार के भाजपा के नारे पर कहा कि हम पूर्ण बहुमत से सरकार में आएंगे।

चौहान जब ज्योतिर्लिंग का अभिषेक करने के बाद बाहर निकल रहे थे, तभी मीडिया से घिर गए। महाकाल में पूजा-अर्चना के बाद वे हरसिद्धि मंदिर भी गए, वहां भी उन्होंने माता की पूजा की।

भाजपा अध्यक्ष भी कर चुके हैं दावा
इससे पूर्व गुरुवार को मध्यप्रदेश के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने भी मीडिया को बयान दिया था कि मध्यप्रदेश में फिर से भाजपा की सरकार बन रही है और शिवराज सिंह चौहान फिर से मुख्यमंत्री होंगे।

इस बार रिकार्ड मतदान हुआ
मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को हुए मतदान का प्रतिशत बढ़ने का सिलसिला थमा नहीं है। कल शाम तक निर्वाचन आयोग ने 75.61 प्रतिशत मतदान का आंकड़ा दिया था, जो गुरुवार शाम तक 74.85 हो गया है। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने गुरुवार शाम को प्रेस कांफ्रेस कर बताया कि अभी सभी पीठासीन अधिकारियों की रिपोर्ट की स्क्रीटनी चल रही है। सभी पोलिंग बूथों के नतीजे आने में अभी कल तक का वक्त लगेगा।

इन आंकड़ों से जानिए, खत्म होगा कांग्रेस का वनवास या फिर बनेगी भाजपा सरकार
मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को हुए रिकार्ड तोड़ मतदान के बाद सभी राजनीतिक दलों की धड़कनें तेज हो गई हैं। क्योंकि पिछली बार की तरह अधिक मतदान होने से कांग्रेस इसे बदलाव का संकेत बता रही है। जबकि भाजपा का मानना है कि हमारा वोट बैंक लगातार बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश में पिछली बार से 2 फीसदी बढ़कर 74.85 प्रतिशत मतदान हुआ है। पिछले आंकड़ों पर नजर डालें तो अंतिम दौर में कुछ भी उलटफेर हो सकता है। चुनाव परिणाम 11 दिसंबर को आ जाएंगे।

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव का मतदान 25 सालों में सर्वाधिक हुआ है। इस आंकड़ें ने राजनीतिक दलों की टेंशन बढ़ा दी है। वे सिर्फ अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। 15 वर्षों में लगातार वोटिंग प्रतिशत बढ़ा है, जिसका सबसे ज्यादा फायदा बीजेपी को हुआ है। भाजपा को वर्ष 2003 में 173, 2008 में 143 और 2013 में 165 सीटें मिली थीं। कांग्रेस अधिक मतदान पर कह रही है कि लोग बदलाव चाहते हैं और कांग्रेस की सरकार बन रही है। कांग्रेस का यह भी दावा है कि 140 सीटों के साथ हम सरकार बनाने जा रहे हैं। इधर, मतदान में प्रतिशत और सभी विधानसभा में हुए वोटिंग प्रतिशत को लेकर सभी राजनीतिक दल विश्लेषण में जुट गई है। दिल्ली में बैठे भाजपा और कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व भी बार-बार अपने प्रमुखों से फीडबैक लेने में जुटे है। एक तरफ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मध्यप्रदेश के भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह से फीडबैक लिया, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कमलनात, सिंधिया और दिग्विजय सिंह से भी बात की है।

अंतिम दौर में पलट सकता है पासा
2003 ———— 67.25 फीसदी
2008 ———— 69.28 फीसदी
2013 ———— 72.66 फीसदी
2018 ———— 74.84 फीसदी

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •