विवाहिता को नौकरी के नाम पर CAR में बिठाया, गैंगरेप

Crime Gwalior

ग्वालियर। 20 वर्षीय विवाहिता को काम दिलाने का वादा कर तीन युवक अपनी कार में ले गए। सुनसान मैदान में कार को खड़ी कर तीनों युवक ने महिला के साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। घटना 26 मई रात 10 बजे आर्मी फार्म पिंटो पार्क के सूने मैदान की है। बदमाशों ने महिला और उसके परिवार को खत्म करने की धमकी दी, जिस पर वह शांत रही लेकिन युवक फिर परेशान करने लगे जिस पर महिला ने मामले की शिकायत गोला का मंदिर थाने में की है। पुलिस ने जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया है। फिलहाल आरोपित फरार हैं।

शिवपुरी करसेना निवासी 20 वर्षीय युवती अभी हाल में पिंटो पार्क के आदर्श नगर में किराए पर कमरा लेकर रहती है। कुछ समय पहले रानी की पहचान पिंटो पार्क स्थित सब्जी मार्केट एरिया में एक कपड़े की दुकान पर काम करने वाले युवक से हुई थी। युवक ने अपना नाम सोनू सिंह बताया था। पहचान होने के बाद रानी ने सोनू से उसके लिए कोई काम देखने के लिए कहा था। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत होती रही। 26 मई रात 10 बजे सोनू एक कार लेकर रानी के घर पहुंचा। उसने बताया कि एक घर है जिसमें उसे काम करने जाना है। अच्छी पगार मिलेगी लेकिन घर अभी देख लो चलकर।

सोनू ने बताया कि वह रात को बाहर निकल रहा है। ऐसे में ऐसा न हो कि काम किसी और को मिल जाए। इस पर रानी उसके साथ कार में बैठ गई। कार में पहले से ही सोनू का दोस्त गिर्राज व एक अन्य युवक बैठे थे। कार को लेकर सोनू पिंटो पार्क आर्मी फार्म के पीछे सुनसान इलाके में पहुंचा। यहां अंधेरे में कार ले जाने पर रानी ने विरोध किया। इस पर एक युवक ने उसका मुंह दबा लिया दूसरे ने हाथ पकड़ लिए और एक कोने में कार खड़ी की। इसके बाद सोनू ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद दोनों युवकों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने शिकायत करते हुए बताया कि वह तीनों युवकों के सामने गिड़गिड़ाई और उनसे उसे छोड़ने के लिए रहम की भीख मांगी, लेकिन वह नहीं माने। तीनों ने मिलकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर डरा दिया। जिस कारण वह शिकायत करने नहीं आ सकी। लेकिन आरोपी फिर उसे परेशान करने लगे। तो उसने परिजन को सारी बात बताई फिर थाने पहुंची। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

Facebook Comments
Tagged

Leave a Reply

Your email address will not be published.