हाथियों ने ली ग्रामीण की जान, शव के किये कई टुकड़े1 min read

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ : कोरबा में हाथियों का आतंक है कि थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. आये दिन हाथियों द्वारा कभी घरों को तहस-नहस करने ते कभी इंसानों और पशुओं को नुकसान पहुंचाने की खबरों से पूरी जिला प्रशासन परेशान है. शनिवार को भी हाथियों के एक दल ने कोरबा वन मंडल के बुंदेली गांव में एक युवक को पटक पटक-पटक कर मार दिया. यही नहीं, हाथियों ने शव के इतने टुकड़े कर दिये कि युवक को पहचानना भी मुश्किल हो गया. बता दें यह पहली बार नहीं है जब हाथियों ने गांवों के रिहायशी इलाकों में इस तरह से आतंक मचाया है. आये दिन हाथी कोरबा के रिहायशी इलाकों में घुसते हैं और घरों और लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं. बावजूद इसके वन विभाग हाथियों के दलों को रिहायशी इलाकों से दूर रखने में नाकाम रही है.

सभी हिस्सों को बरामद कर मृतक की पहचान की
वहीं हाथियों के कोरबा के रिहायशी इलाके में घुसने की खबर मिलने पर वनकर्मी जब मौके पर पहुंचे तो शव देखकर हैरान रह गए. हाथियों ने व्यक्ति के इतने टुकड़े कर दिये थे कि व्यक्ति को पहचानना भी मुश्किल हो गया था. घटना की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी हिस्सों को बरामद कर मृतक की पहचान की. लाश गहनिया निवासी गुलाब सिंह की थी. बताया जा रहा है की 35 वर्षीय गुलाब सिंह ढेंगुरडीह अपने ससुराल आया हुआ था. शनिवार को गुलाब सिंह किस काम से जंगल पहुंचा यह किसी को भी पता नहीं है, लेकिन रविवार की सुबह उसकी लाश देखी गयी.

बिजली की समस्या से अंधेरे में रात बितानी पड़ती है
हाथियों के आतंक से परेशान ग्रामीणों ने हाथी कॉरिडोर के अलावा सुरक्षा संसाधन की मांग शासन-प्रशासन से की है. गांव वालों ने शिकायत की है कि बिजली की समस्या से अंधेरे में रात बितानी पड़ती है और गांव में शौचालय अधूरा होने के कारण ग्रामीणों को शौच के लिए जंगल जाना पड़ता है, इससे ऐसी दुर्घटनाएं हो रही हैं. बता दें कि शनिवार की रात को ही चार-पांच हाथियों का दल बालको वन परिक्षेत्र कार्यालय के समीप देखा गया था. हाथियों के दल ने वन परिक्षेत्र के बेरियर हाउस के साथ-साथ कई घरों को तोड़ दिया था.

Facebook Comments