MP के इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी1 min read

Bhopal Gwalior Jabalpur Madhya Pradesh Rewa Satna Sidhi Singrauli

भोपाल। उत्तरप्रदेश और उससे लगे मध्यप्रदेश के उत्तरी भाग पर बने ऊपरी हवा के चक्रवात से बरसात का दौर जारी है। इसी क्रम में शनिवार को दमोह में 28, ग्वालियर में 13.3, सागर में 10, सीधी में 8, श्यौपुरकलाट में 5, होशंगाबाद में 2, भोपाल में 1.8, नौगांव, बैतूल में 1 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक वर्तमान में मप्र के उत्तरी क्षेत्र से लगे उत्तरप्रदेश के दक्षिणी भाग पर 3.1 किमी. की ऊंचाई पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। उसके प्रभाव से ग्वालियर, चंबल संभाग सहित प्रदेश के कई जिलों में बरसात हो रही है।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आरआर त्रिपाठी ने बताया कि बंगाल की खाड़ी और ओडिशा के आसपास बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण बड़े पैमाने पर नमी आने का सिलसिला जारी है। इस वजह से पूरे प्रदेश में आसमान पर बादल छाए हुए हैं। इन दो सिस्टम के प्रभाव से अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, भिंड, मुरैना, दतिया, सागर, गुना, रायसेन, अशोकनगर, डिंडोरी में भारी बरसात की चेतावनी जारी की गई है। त्रिपाठी के मुताबिक कम दबाव के क्षेत्र के आगे बढ़ने पर प्रदेश में बरसात की गतिविधियों में तेजी आने की संभावना है।

विंध्य-महाकोशल के कुछ जिलों में शनिवार को रिमझिम तो कुछ जिलों में रुक-रुक कर बारिश होती रही। नरसिंहपुर में दिनभर रिमझिम बारिश होती रही। जबलपुर के बरगी डैम से पानी छोड़े जाने के कारण नरसिंहपुर में नर्मदा का जलस्तर बढ़ा हुआ है। दमोह में सुबह हल्की बारिश हुई। वहीं कटनी में दोपहर तक रुक-रुक कर हल्की बारिश तो डिंडौरी में दिनभर बूंदाबांदी का दौर रहा। शहडोल में बंूदाबांदी के साथ घने काले बादल छाए रहे। जबलपुर में भी दिन में हल्की बारिश हुई। सतना, अनूपपुर, उमरिया, बालाघाट, सिवनी, पन्न्ा में बारिश नहीं हुई।

Facebook Comments