रीवा: खुलेगी कनौडिया पेट्रोल पंप के लीज की फाइल, करोड़ों की सरकारी जमीन पर फर्ज़ीवाड़े का मामला…

Rewa
  • 315
    Shares

रीवा। अरसे पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा रीवा शहर के झिरिया स्थित कनोडिया पेट्रोल पंप को आवंटित लीज की फाइल खोली जाएगी । सूत्रों के अनुसार कांग्रेस नेता जुगुल किशोर कनोडिया को पेट्रोल पंप स्थापित करने हेतु लीज का आवंटन निर्धारित शर्तो और नियमों के विपरीत मनमाने तरीके से किया गया है ।

15 साल तक भाजपा की सरकार के रहते यह मामला दबा रहा लेकिन कांग्रेस की सरकार बनते ही कांग्रेस नेता को मिली लीज का मामला गरम हो गया । रीवा शहर के खसरा क्रमांक 3 में स्थित यह भूमि वन विभाग द्वारा वृक्षारोपण के लिए आरक्षित की गई थी जिस पर नजूल विभाग द्वारा पेट्रोल पम्प स्थापित करा दिया गया ।

जानकारी के मुताबिक जिस जमीन पर पेट्रोल पंप बनाया गया है उस जमीन पर पुलिस अधीक्षक रीवा ने महिला थाना हेतु जमीन आवंटन की मांग की थी लेकिन प्रशासन ने यह कह कर महिला थाना को भूमि देने से मना कर दिया कि उक्त भूमि वृक्षारोपण के उद्देश्य से वन विभाग को आरक्षित की गई है लेकिन जब रसूखदार कनोडिया का मामला आया तब सारे नियम कायदे ताक पर रख दिये गए ।

कनोडिया पेट्रोल पंप पूर्व में जयस्तंभ चौक पर संचालित था लेकिन यातायात के दबाव के कारण जिला प्रशासन ने जनहित में वहाँ से पेट्रोल पंप अन्यत्र स्थापित करने के निर्देश दिए थे । जुगुल किशोर कनोडिया चाहते तो नेशनल हाईवे से लगी ढेकहा स्थित अपनी खुद की जमीन पर पेट्रोल पंप स्थापित करा सकते थे लेकिन कांग्रेसी कार्यकाल में पंजीरी जैसी बंटी लीज का फायदा उठाने से वे नही चूके और करोड़ो कीमत की सरकारी जमीन लीज के नाम पर हथियाने में सफलता पा ली ।

सूत्र बताते हैं कि एक वरिष्ठ अधिवक्ता ने गलत तरीके से आवंटित लीज के समस्त दस्तावेज इकठ्ठे कर लिए है जिन्हें जांच हेतु राज्यपाल को देने की तैयारी की जा रही है । कनोडिया की लीज के साथ ही उन सभी लीजो की भी जांच कराई जायेगी जो कांग्रेसी कार्यकाल में नियम विरुद्ध तरीके से आवंटित की गई है ।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
    315
    Shares
  • 315
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •