मध्यप्रदेश : रिजल्ट से पहले ही सीएम पद को लेकर घमासान, दो भागों में बंटे कांग्रेस नेता1 min read

Madhya Pradesh

भोपाल। मध्यप्रदेश में 11 दिसंबर को चुनाव का परिणाम आएगा, इससे पहले ही अपनी सरकार बनाने का दावा कर रही कांग्रेस खेमे में फिर मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान शुरू हो गई। तीन गुट आपस में भिड़ गए हैं। गुरुवार को भोपाल के मानस भवन में कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों की बैठक बुलाई गई थी। इसमें सभी प्रत्याशियों को नसीहत दी जा रही थी। इस बीच कांग्रेस के ही अलग-अलग खेमे के तीन गुटों से आए बयान ने राजनीति गर्मा दी है।

जैन बोले- कमलनाथ बनेंगे मुख्यमंत्री
विधायक निशंक जैन का बयान आ गया। उन्होंने मीडिया को बताया कि कांग्रेस की सरकार आई तो कमलनाथ मुख्यमंत्री बनेंगे। जैन ने यह भी कहा कि हर पार्टी फोरम पर अपनी बात रखेंगे। 25 विधायक और कई उम्मीदवार कमलनाथ को सीएम बनाने के पक्ष में हैं।

कोलारस विधायक बोले सिंधिया को बनाएं सीएम
सिंधिया खेमे के कोलारस विधायक और कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने की मांग करके सभी को चौंका दिया। इनके अलावा अटेर से विधायक हेमंत कटारे ने भी बयान दिया है कि कांग्रेस की सरकार बनने पर सिंधिया को ही मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए।

दिग्विजय खेमे के गोविंद बोले कमलनाथ का नाम नहीं
इधर,कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह खेमे के माने जाने वाले विधायक गोविंद सिंह का भी यह बयान चौंकाने वाला है, जिसमें उन्होंने कह दिया कि कमलनाथ का नाम मुख्यमंत्री की सूची में ही नहीं है।

पहले भी चल चुका है अभियान
इससे पहले भी ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ को मुख्यमंत्री घोषित करने का अभियान उनके समर्थक चला चुके हैं। सिंधिया समर्थकों ने सोशल मीडिया पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मुहिम छेड़ दी थी। इसके बाद भी गुटबाजी चरम पर होने के कारण कांग्रेस पार्टी अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं कर पाई थी। तभी से समय-समय पर दिग्गज नेताओं के समर्थक मुहिम चलाते रहते हैं

Facebook Comments