सतना में भाई ने अपने बड़े भाई और भाभी की गोली मारकर की हत्या

विकलांग ने रची मार्डर मिस्ट्री, अपने ही प्रेमिका को दी ऐसी सज़ा की रूह कांप जाए, पढिये पूरी खबर

मध्यप्रदेश सतना

विकलांग ने रची मार्डर मिस्ट्री, अपने ही प्रेमिका को दी ऐसी सज़ा की रूह कांप जाए, पढिये पूरी खबर

AMAZON DEALS – UPTO 50% OFF

सतना ।विकलांग था लेकिन दिल तो उसके अंदर भी था लिहाजा मोहब्बत वह भी कर बैठा। जिससे मोहब्बत की उसके लिए क्या कुछ नही किया।

अपनी जमीन बेच दी और रकम भी प्रेमिका को सौंप दी।

लेकिन इतना सब करने के बाद भी जब प्रेमिका उसके प्रति वफादार नही बन पाई तो उसने बेवफा प्रेमिका को काट डाला।

बेवफाई की सजा देते हुए उसकी हत्या कर दी और फिर ऐसी कहानी रच डाली जिसने पुलिस को भी घनचक्कर बना डाला।

पुलिस हत्यारे की तीमारदारी करती रही और कातिल पुलिस को किसी और के पीछे दौड़ाता रहा।

अवैध सीमेंट बिक्री के आरोपी को जमानत खारिज

सतना की उचेहरा थाना पुलिस ने ग्राम भरहटा में गत 17 सितंबर को हुई 44 वर्षीया महिला मीना केवट पत्नी फूलचंद केवट की अंधी हत्या का पर्दाफाश करने में कामयाबी हासिल की है। इस मामले में रामपाल केवट 44 वर्ष को गिरफ्तार किया गया है।

रामपाल केवट ने मीना की हत्या गड़ासे से उस पर घातक वार कर की थी।

वह मीना का आशिक था लेकिन मीना की बेवफाई उसे रास नही आई लिहाजा उसने योजनाबद्ध तरीके से हत्या की वारदात की अंजाम दे दिया।

प्रेमिका को बेवफाई की सजा में मौत देने के बाद विकलांग रामपाल ने अपने शातिर दिमाग से अपने बचाव और

दूसरे को फंसाने की ऐसी योजना बनाई कि पुलिस भी घनचक्कर बन गई। मीना की लाश जिस वक्त उसके पति को उसकी झोपड़ी में रजाई से ढंकी हुई मिली थी

उसी वक्त रामपाल नदी के पास रस्सी से बंधा मिला था।

ट्रैक्टर एजेंसी को लेकर हुई हत्या का पुलिस ने किया पर्दाफाश, कट्टा, कारतूस सहित दो आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया था। अस्पताल में इलाज के दौरान वह पुलिस को सब्जी के आढ़तिया सभापति कुशवाहा व एक अन्य का नाम बताता रहा। रामपाल पुलिस से कहता रहा कि सभापति और उसके साथी ने ही मीना की हत्या कर दी। पुलिस सभापति की तलाश करने लगी और रामपाल अस्पताल के तीमारदारी कराता रहा।


कहानी में झोल खुल गई पोल

पुलिस ने रामपाल के बताए अनुसार सभापति को घेरा और पूछताछ शुरू की। सभापति ने बताया कि वह वारदात की रात अपने घर पर परिवार के साथ था।

तस्दीक हुई तो भी सभापति की बात सच निकली लिहाजा पुलिस ने रामपाल से दोबारा पूछताछ की।

उसकी कहानी में गड़बड़ी समझ मे आई तो पुलिस का संदेह गहराया लिहाजा सख्ती दिखाई गई। कहानी में झोल तलाश कर पुलिस सख्त हुई तो पोल खुल गई।

रामपाल ने जुर्म कबूल कर लिया। उसने स्वीकार किया कि मीना की हत्या उसने ही गड़ासे से की और फिर खुद को रस्सी से बांध लिया।

22 सितंबर को ऑनलाइन माध्यम से किसानों को जोड़ा जाएगा, साथ ही 800 करोड़ रुपये शून्य ब्याज पर दिया जाएगा ऋण

पुलिस ने उसकी निशानदेही पर गड़ासा और खून से सने कपड़े भी बरामद किए हैं। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी जमीन बेच कर लाखो रुपए मृतिका को दिए थे।

वह उससे मोहब्बत करता था लेकिन उसने बेवफाई की।

वारदात की रात मीना के साथ कहासुनी हुई तो गुस्से में उसने गड़ासे से उसके चेहरे पर वार कर उसकी हत्या कर दी और शव को रजाई से ढंक कर चला गया।

पुलिस को आरोपी के पास से एक डायरी भी मिली है जिसमे उसने मीना की बेवफाई का किस्सा लिख रखा है।

कार्रवाई में ये रहे शामिल

इस कार्रवाई में निरीक्षक के.के. शर्मा थाना प्रभारी उचेहरा, उ. नि. गोपाल चौबे थाना प्रभारी कोठी,उ.नि. बिशन सिंह मरावी,उपनिरीक्षक अजीत सिंह,सउनि. के एल वर्मा, प्रधान आरक्षक दीपेश कुमार,आरक्षक अभिषेक पांडे,आरक्षक रमाकांत तिवारी,आरक्षक प्रदीप मिश्रा, महीप तिवारी,प्रमोद गुप्ता,सुनील सांवरिया का सराहनीय योगदान रहा।

लाशे उगल रहा सिरमौर का क्योटी जल प्रपात

युवाओं को PMEGP ऋण आवंटन न करने पर बैंक शाखा प्रबंधकों पर नाराज हुए कलेक्टर इलैयाराजा टी

रीवा : सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल का प्रशासन ने हटाया अतिक्रमण, व्यवसाईयों ने किया विरोध, 30 सितम्बर को सीएम करेंगे अस्पताल का शुभारंभ

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram