सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल का प्रशासन ने हटाया अतिक्रमण, व्यवसाईयों ने किया विरोध, 30 सितम्बर को सीएम करेंगे अस्पताल का शुभारंभ

रीवा : सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल का प्रशासन ने हटाया अतिक्रमण, व्यवसाईयों ने किया विरोध, 30 सितम्बर को सीएम करेंगे अस्पताल का शुभारंभ

रीवा

रीवा : सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल का प्रशासन ने हटाया अतिक्रमण, व्यवसाईयों ने किया विरोध, 30 सितम्बर को सीएम करेंगे अस्पताल का शुभारंभ

रीवा। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा आज अमहिया स्थित सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल के समीप स्थित अवैध अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई की गई। यह कार्रवाई सुबह 7 बजे से शुरू हुई। प्रशासनिक अमला दल-बल के साथ अतिक्रमण हटाने पहुंचा तो स्थानीय व्यापारियों ने इसका विरोध करते हुए हंगामा किया। लेकिन प्रशासन के आगे उनकी एक न चली। प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए सुपर स्पेशलियटी हाॅस्पिटल के आसपास मौजूद सभी दुकानों को हटाकर अस्पताल परिसर को अतिक्रमण मुक्त कराया। अवैध अतिक्रमण को हटाने की यह कार्रवाई एसडीएम फरहीन खान के नेतृत्व में की गई।

22 सितंबर को ऑनलाइन माध्यम से किसानों को जोड़ा जाएगा, साथ ही 800 करोड़ रुपये शून्य ब्याज पर दिया जाएगा ऋण

टूटी कई दुकानें

सूत्रों की माने तो कई वर्षो से अस्पताल के समीप अपनी दुकान लगाकर जीवन यापन करने वाले कई व्यावसाईयों की दुकानें आज प्रशासन द्वारा तोड़ दी गई। प्रशासन की इस कार्रवाई का स्थानीय व्यापारियों द्वारा विरोध भी किया। व्यापारियों का कहना था कि प्रशासन द्वारा बिना सूचना दिए एकाएक इस तरह की कार्रवाई करना बिल्कुल गलत है। प्रशासन की इस कार्रवाई से हमारा रोजगार छिन गया है। वैसे भी कोरोना काल में रोजी-रोटी का संकट है। थोड़ा बहुत धंधा करके हम अपना जीवन यापन कर रहे थे, लेकिन प्रशासन द्वारा उसे भी तोड़ दिया गया।

लाशे उगल रहा सिरमौर का क्योटी जल प्रपात

30 सितम्बर को सीएम करेंगे लोकार्पण

सूत्रों की माने तो सुपर स्पेशलियटी अस्पताल का 30 सितम्बर को लोकार्पण किया जाना है। यह लोकार्पण कार्यक्रम सीएम शिवराज सिंह द्वारा किया जाएगा। जिसे लेकर आज प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा वर्षो से अवैध रूप से काबिज अतिक्रमणकारियों पर बुल्डोजर चलाया गया और अस्पताल परिसर को अतिक्रमण मुक्त किया गया है।

अतिक्रमण की चपेट में अमहिया मार्ग

बता दें कि सिरमौर चैराहा से अस्पताल को जाने वाला मार्ग पूरी तरह से अतिक्रमण की चपेट में आए। इस मार्ग के दुकानदार सड़क पर अपनी दुकानें फैला लेते हैं। जिसके कारण आए दिन इस मार्ग में जाम जैसी स्थिति देखने को मिलती हैं। इस मार्ग को प्रशासन द्वारा कई बार अतिक्रमण मुक्त कराया गया। बावजूद इसके दुकानदार अपनी मनमानी नहीं छोड़ते है और प्रशासन के जाते ही वह अपनी दुकानें जस की तस कर लेते हैं जिससे जाम जैसी स्थिति आए दिन निर्मित होती है।

5 साल पाकिस्तान की जेल में रहने बाद अपनी सरजमीं पर पहुंचा अनिल, लोगों ने किया स्वागत

युवाओं को PMEGP ऋण आवंटन न करने पर बैंक शाखा प्रबंधकों पर नाराज हुए कलेक्टर इलैयाराजा टी

रीवा : 42 करोड़ का है लक्ष्य, अधिकारी-कर्मचारियों की बढ़ी मुसीबत

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram