अच्छी खबर, दुनियाभर में कोरोना के 140 टीके का अनुसंधान, 6 का क्लिनिकल अंतिम परीक्षण

10 अगस्त को आ रही CORONA वैक्सीन, सबसे पहले मिलेगी इन्हे, पढ़िए जरूरी खबर …

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

10 अगस्त को आ रही CORONA वैक्सीन, सबसे पहले मिलेगी इन्हे, पढ़िए जरूरी खबर …

नई दिल्ली: CORONA से छुटकारा पाने के लिए अब तमाम देश जहा जूंझ रहे है वही भारत और कई देशो ने भी अपनी तैयार पूरी कर ली है. आपको बता दे कि लगभग 25 से जयादा परियोजनाओं  पर ट्रायल चल रहा जिसे बस अब अंतिम रूप दिया जायेगा। मिली जानकारी के मुताबिक कोविड-19 की वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) 10 अगस्त या इससे पहले आ सकती है। इसे मॉस्को के गमलेया इंस्टीट्यूट ने विकसित किया है। 

मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन से पहले कोरोना संकट, रामलला के पुजारी और 16 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए

कोरोना वायरस के क़रीब सात महीने लंबे प्रकोप के बाद इसकी वैक्सीन बनाने की कोशिशों में बेहतर संकेत मिलने शुरू हुए हैं. वैसे मोटे तौर पर अनुमान लगाया जा रहा है कि अगर जल्दी से वैक्सीन मिला तो महामारी से जल्द छूटकरा मिल सकता है. 

मालूम हो कि रूसी अधिकारियों ने वैक्सीन के लांच होने के बाद इसके उपयोग के बारे में भी बताया। उनका कहना है कि वैक्सीन के उपयोग के लिए सार्वजनिक मंजूरी दी जाएगी, लेकिन इसका सबसे पहले इस्तेमाल फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स करेंगे। क्योंकि वे कोरोना संक्रमित लोगों की सेवा कर रहे हैं। उन्हें संक्रमण से निपटना ज्यादा जरूरी है। क्योंकि वे स्वस्थ रहेंगे, तभी दूसरे लोग भी जल्दी ठीक हो सकेंगे।

5 अगस्त को पूरा होने जा रहा है 29 साल पहले मोदी का किया हुआ वादा

रूसी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, इस वैक्सीन के मानव परीक्षण में रूसी सैनिकों ने स्वयंसेवक के रूप में काम किया है। दावा किया जा रहा है कि वैक्सीन बनाने की इस परियोजना के निदेशक अलेक्जेंडर गिन्सबर्ग ने खुद भी वैक्सीन की खुराक ली है।  

कोरोना वैक्सीन को लेकर भारतीय वैज्ञानिक में काफी मेहनत कर रहे हैं। इस वक्त देश में दो वैक्सीन प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है, जिसमें आईसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा तैयार वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) शामिल है।

कोविड-19 को लेकर शुरू हुई नई प्रतियोगिता, जीतने पर मिलेंगे 37 करोड़ रुपए, जानिए क्या है ये

राहुल गाँधी ने IAF को RAFALE JETS आने पर दी बधाई और केंद्र सरकार पर दागे 3 सवाल

[signoff]