विंध्य

विंध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रखी थी परम्परा की नींव, 5 दिवसीय बाणगंगा मेला शुरू

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:43 AM GMT
विंध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रखी थी परम्परा की नींव, 5 दिवसीय बाणगंगा मेला शुरू
x
शहडोल / विंध्य न्यूज़ : मकर संक्रांति पर शहडोल जिले के बाणगंगा मेले की परम्परा विंध्य की स्थापना के साथ शुरू हुई थी। इसकी शुरूआत विंध्यप्रदेश के पहले मुख्यमंत्री ने शंभूनाथ शुक्ल द्वारा की गई थी। जिसके बाद से यहां पर लगातार मकर संक्रांति पर मेला आयोजित हो

विंध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रखी थी परम्परा की नींव, 5 दिवसीय बाणगंगा मेला शुरू

शहडोल / विंध्य न्यूज़ : मकर संक्रांति पर शहडोल जिले के बाणगंगा मेले की परम्परा विंध्य की स्थापना के साथ शुरू हुई थी। इसकी शुरूआत विंध्यप्रदेश के पहले मुख्यमंत्री ने शंभूनाथ शुक्ल द्वारा की गई थी। जिसके बाद से यहां पर लगातार मकर संक्रांति पर मेला आयोजित होता आ रहा है। पांडवनगर निवासी अधिवक्ता रामप्रसाद मिश्र ने बताया कि विंध्य प्रदेश की स्थापना के बाद पं. शंभूनाथ शुक्ल विंध्य के पहले मुख्यमंत्री बने। तभी बाणगंगा में एक दिवसीय मेले की शुरूआत की गई थी।

यह भी पढ़े : विंध्य की धरा 2023 तक नर्मदा के पांव पखार सकती है, मुख्यमंत्री से चर्चा में निकला निष्कर्ष….

विंध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रखी थी परम्परा की नींव, 5 दिवसीय बाणगंगा मेला शुरू

यह भी पढ़े : विंध्य में हैवानियत! महिला से गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में सरिया डाला, तीन गिरफ्तार

तबसे यह परम्परा लगातार चली आ रही है। बाणगंगा कुण्ड और विराट मंदिर की वजह से यह स्थान ऐतिहासिक और आस्था का केंद्र बना हुआ है। नगर के ऐतिहासिक बाणगंगा मेले में इस वर्ष नई पहल की गई है। जिसमें नगर पालिका द्वारा नेकी की दीवार की शुरूआत की है। जिसके माध्यम से कपड़े और दैनिक उपयोग की वस्तुएं गरीबों को वितरित की जाएंगी। गुरुवार से नगर पालिका शहडोल द्वारा कोविड 19 के लिए शासन द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार 5 दिवसीय बाणगंगा मेला का आयोजन किया जा रहा है।

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

Facebook | WhatsApp | Instagram
| Twitter | Telegram | Google News

Next Story