मध्यप्रदेश

इमरजेंसी में ज़ीरो बैलेंस होने पर भी निकाल सकतें हैं पैसे, पढिये पूरी खबर

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:33 AM GMT
इमरजेंसी में ज़ीरो बैलेंस होने पर भी निकाल सकतें हैं पैसे, पढिये पूरी खबर
x
इमरजेंसी में ज़ीरो बैलेंस होने पर भी निकाल सकतें हैं पैसे, पढिये पूरी खबर नई दिल्ली। बैंक की ओर से ग्राहकों के लिए राहत भरी खबर है। कोरोना काल

इमरजेंसी में ज़ीरो बैलेंस होने पर भी निकाल सकतें हैं पैसे, पढिये पूरी खबर

नई दिल्ली। बैंक की ओर से ग्राहकों के लिए राहत भरी खबर है। कोरोना काल के चलते अक्सर लोगों को रुपए की जरूरत पड़ रही है। अगर आपको भी इमरजेंसी में रुपयों की जरूरत है, लेकिन अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस नहीं है तो चिंता करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि कई बैंक ओवरड्रफ्ट की सुविधा दे रहा है। आईसीआईसीआई बैंक सैलरी अकाउंट धारकों को ये फैसिलिटी दे रहा है। इससे ग्राहक अपने वेतन की तीन गुनी राशि तक का पैसा बैंक से बतौर उधार ले सकेंगे

‘क्या सरकार के पास कोविद19 वैक्सीन के लिए 80,000 करोड़ रुपये हैं?’: Adar Poonawalla ने पूछा

आईसीआईसीआई बैंक की ओर से सैलरी अकाउंट होल्डर्स को सुविधा को देने का मकसद उनके ईएमआई या चेक बाउंस होने से बचाना है। इसके लिए बैंक शार्ट-टर्म इंस्टेंट क्रेडिट उपलब्ध कराएगा। इस फैसिलिटी का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को बैंक में ऑनलाइन एप्लीकेशन देनी होगी। साथ ही कुछ अन्य कागजी कार्रवाई पूरी करनी होगी।

ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी जानिए

इस सुविधा में आप अपने बैंक अकाउंट से मौजूदा बैलेंस से ज्यादा पैसे निकाल सकते हैं। ऐसे में आपने जितने अतिरिक्त पैसे लिए हैं इसे एक निश्चित अवधि के अंदर चुकाना होता है। ये एक तरह का लोन होता है जो बैंक आपको जरूरत पड़ने पर देता है।

BJP अध्यक्ष नड्डा की नई टीम घोषित, रमन-वसुंधरा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनें, कैलाश को फिर महामंत्री की जिम्मेदारी, यहाँ देखें पूरी लिस्ट…

इस पर ब्याज भी लगता है। जो रोजाना या मंथली बेसिस पर होते हैं। ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी में कितना अमाउंट आप निकाल सकते हैं इसकी लिमिट बैंक या NBFCs तय करते हैं। ये दो तरह के होते हैं। पहला सिक्योर्ड और दूसरा अनसिक्योर्ड। पहले ओवरड्राफ्ट सुविधा के लिए सिक्योरिटी के तौर पर आप कुछ गिरवी रख सकते हैं, जैसे-एफडी शेयर्स, घर, सैलरी, इंश्योरेंस पॉलिसी, बॉन्ड्स आदि। ऐसा करने पर ये चीजें बैंक या NBFCs के पास गिरवी रहती हैं। जिसे बाद में चुकाने पर छुड़ाया जा सकता है। वहीं दूसरे विकल्प में आपको सिक्योरिटी के तौर पर कुछ देने की जरूरत नहीं होगी, इसे अनसिक्योर्ड ओवरड्राफ्ट कहते हैं। बैंक की ओर से दी गयी यह सुविधा आमजनता के लिए राहत भरी है.

सबसे पहले किस देश को मिलेगी चीन में बनी कोरोना वैक्सीन

[signoff]
Next Story
Share it