सीधी / रईसजादे की BMW कार का चालान काटना सूबेदार भागवत प्रसाद पांडेय पर पड़ा भारी? लाइन अटैच किए गए

सीधी / रईसजादे की BMW कार का चालान काटना सूबेदार भागवत प्रसाद पांडेय को पड़ा महंगा? लाइन अटैच किए गए

रीवा सीधी

सीधी. अपने ख़ास अंदाज के चलते देश भर के चहेते बन चुके सीधी जिले के ट्रैफिक सूबेदार भागवत प्रसाद पांडेय को लाइन अटैच कर दिया गया है. उनके चहेतों की मानें तो उनको यह सजा इसलिए मिली क्योंकि उन्होंने एक रईसजादे की BMW कार का चालान (Challan) काटने की गुस्ताखी कर दी थी.

सूबेदार भागवत प्रसाद पांडेय (Subedar Bhagwat Prasad Pandey) Lockdown के दौरान पूरे देश में चर्चित होते गए. वे अपनी कार्रवाईयों की लाइव वीडियो बनाते और उसे सोशल मीडिया में अपलोड करतें थें. शायद यही बात विभाग के आलाधिकारियों को नागवार गुजरी और उन्हें लाइन अटैच कर दिया गया.

Coronavirus in Rewa / आज 4 नए कोरोना संक्रमित मिलें, 3 स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए

सूबेदार भागवत प्रसाद पांडेय अक्सर लोगों की मदद करते थें, लोगों को नियम तोड़ने पर समझाते थें. फिर भी उन पर ऐसी कार्रवाई प्रशासन को सवालों के घेरे पर लाती है. 

कहीं BMW कार का चालान काटने की सजा तो नहीं

लोगों के चुलबुल पांडेय उर्फ़ भागवत प्रसाद पांडेय को पुलिस लाइन, सीधी के लिए अटैच कर दिया गया है. लोगों के बीच यह भी चर्चा है की उन्हें लाइन अटैच एक रईसजादे BMW कार चालक का चालान बनाने को लेकर किया गया है. कुछ ही दिनों पहले उन्होंने एक BMW कार का चालान काटा था, जिसका वीडियो भी बनाया गया था और वह काफी वायरल भी हुआ.

रीवा / आज के सरकारी समाचार / 28 June, 2020 / Part-I

BMW कार चालक यातायात नियमों के विपरीत मोबाइल फ़ोन पर बात करते हुए ड्राइव कर रहा था. जिस पर ड्यूटी में तैनात सूबेदार भगवत प्रसाद पांडेय ने उसे रोकते हुए समझाया गया और चालान काट दिया गया. इस दौरान रईसजादे कार चालक ने इधर उधर की सिफारिशें एवं फोन लगाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी थी.

वीडियो वायरल होने के बाद लाइन अटैच

जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें कहीं पर भी सूबेदार भागवत पांडे की गलती नजर नहीं आ रही है. नियम तोड़ने पर उन्होंने BMW कार मालिक पर चालानी कार्रवाई की है लेकिन इसके बावजूद बाद में एसपी ने उन्हें लाइन अटैच कर दिया. जिस दिन एसपी रिलीव हो रहे थे जाने से पहले सूबेदार पांडे को लाइन अटैच कर गए.

रीवा / आज के सरकारी समाचार / 28 June, 2020 / Part-II

सूबेदार पांडे पर हुई कार्रवाई से उठ रहे सवाल

सूबेदार पांडे को लाइन अटैच करने की इस कार्रवाई से कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. सबसे बड़ा सवाल तो ये है कि क्या किसी रसूखदार पर कार्रवाई करने के कारण उन्हें लाइन अटैच किया गया है और अगर ऐसा है तो फिर क्या इसका विभाग के दूसरे छोटे कर्मचारियों पर गलत असर नहीं पड़ेगा और आगे से वो किसी बड़े रसूखदार पर कार्रवाई करने से नहीं कतराएंगे. जिस काम के लिए भागवंत पांडे को शाबाशी मिलनी चाहिए थी उसी के लिए उन पर कार्रवाई करना कहां तक सही है. इस तरह के तमाम सवाल हैं लेकिन जवाब एक भी नहीं.

सीएम शिवराज / अधिकारी माइंडसेट कर लें! गरीब के अधिकार को मैं छिनने नहीं दूंगा, कलेक्टर एवं DFO सुन लें…

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments
Tagged