Mukundpur Tiger Safari

Mukundpur Tiger Safari में गोपी की मौत, नहीं थम रही बाघों के मरने की घटनाएं

मध्यप्रदेश रीवा

Mukundpur Tiger Safari में गोपी की मौत, नहीं थम रही बाघों के मरने की घटनाएं

रीवा। जिस उद्देश्य और सपने को लेकर मुकुंदपुर में महाराजा मार्तण्ड सिंह जू देव टाइगर सफारी ( Mukundpur Tiger Safari ) की स्थापना की गई थी वह धूमिल होती नजर आ रही है। प्रबंधन की लापरवाही से आये दिन बाघों की मौत हो रही है लेकिन जिम्मेदार उदासीन बने हुए हैं। चिड़ियाघर में स्थित बाघांे के मरने का सिलसिला चल रहा है। अभी हाल ही में एक तेंदुआ और बाघिन दम तोड़ चुके हैं। अब इस मर्तबा सफेद बाघ गोपी की मौत हो गई है। सफेद बाघ की मौत के बाद लोग हतप्रभ है। आम जनों का कहना है कि डाक्टर और प्रबंधन की लापरवाही के कारण वन्य जीवों की मौत हो रही है।

Amazon Deals खरीदिये अमेज़न से सामान सस्ते में

Mukundpur Tiger Safari में गोपी की मौत, नहीं थम रही बाघों के मरने की घटनाएं
Mukundpur Tiger Safari में गोपी की मौत, नहीं थम रही बाघों के मरने की घटनाएं

इसके बाद भी जिम्मेदार शांत बैठे हुए हैं। बताया गया है कि वन्य जीवों को बचाने में नाकामयाब रहे जू संचालक संजय रायखेड़े का तबादला भी निरस्त कर दिया गया। डा. राजेश तोमर की प्रतिनियुक्ति समाप्त नहीं की रही है। शायद इन दोनों ने मिलकर चिड़ियाघर को बंद कराने का ठेका ले लिया है। जहां तेजी से वन्य जीव लाए गए थे उसी तेजी से सभी मर भी रहे हैं। हालात ऐसे हो गए हैं कि जल्द ही चिड़ियाघर का संचालन खतरे में पड़ सकता है?

रीवा: Mukundpur Tiger Safari ने खो दिया एक और बाघ, लम्बी बीमारी के बाद मौत

रीवा : Mukundpur Tiger Safari में नवजात शेर शावको में से एक की मौत, पढ़ें…

Nokia 5.4 QUAD रियर कैमरा के साथ लॉन्च किया गया: देखे कीमत, specifications

Oppo A15s ट्रिपल रियर कैमरा के साथ भारत में लॉन्च: कीमत, specifications

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *