कैंसर बीमारी से लड़ने में कारगार काला चावल विटामिन,कैल्शियम से है भरपूर, अच्छी कीमत में होता है बिक्री

कैंसर बीमारी से लड़ने में कारगार काला चावल विटामिन,कैल्शियम से है भरपूर, अच्छी कीमत में होता है बिक्री

Health लाइफस्टाइल

कैंसर बीमारी से लड़ने में कारगार काला चावल विटामिन,कैल्शियम से है भरपूर, अच्छी कीमत में होता है बिक्री

नरसिंहपुर। काले धान का चावल कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने में कारगर माना जाता है। डॉक्टर भी इसके प्रयोग की सलाह देते हैं। इसमें रासायनिक खाद का प्रयोग नहीं होने से इस धान की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है। काला चावल एंटीऑक्सीडेंट के गुणों से भरपूर माना जाता है। विटामिन बी, ई के अलावा कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन तथा जिंक प्रचुर मात्रा में होता है।

यहां होती है पैदावार

मप्र के नरसिंहपुर में काले चावल की अच्छी पैदावार हो रही है। इसका स्वाद कई राज्य के लोगों को पसंद आ रहा है। किसान पचास किलो तक के पैकेट बनाकर चावल की सप्लाई कर रहे हैं।

कैंसर बीमारी से लड़ने में कारगार काला चावल विटामिन,कैल्शियम से है भरपूर, अच्छी कीमत में होता है बिक्री

काला चावल असम, मणिपुर राज्यों में ही होता था, बाजार में इसकी कीमत अच्छी मिलती है। काले चावल की खेती किसान को मुनाफा देने के साथ ही पानी की बचत में भी मददगार है।

किशोर को लड़की से प्रेम करना पड़ा मंहगा, ऐसे हो गई मौत

इन राज्यो में हो रही मांग

काले चावल की मांग तमिलनाडु, बिहार, राजस्थान, मुंबई, हरियाणा राज्यों से भी है और काले चावल के पैकेट बनाकर ऑनलाइन प्रदेश के किसान सप्लाई कर रहे हैं।

300 रूपये किलो में होता है बिक्री

वर्तमान में 300 रुपये किलो तक काला चावल ऑनलाइन बिक रहा है। काले चावल की खेती में भी 20 से 25 हजार रुपये प्रति एकड़ की लागत आती है और यह फसल भी दूसरे किस्मों की धान की तरह 120 से 130 दिन की होती है।

15 दिन के भीतर दो किसानों ने की आत्महत्या, खेत में बोई थी सोयाबीन की फसल, आशानुरूप उपज न मिलना बताई जा रही वजह!

4 पुलिसकर्मी को हुआ कोरोना संक्रमण , आकड़े दहाई अंक पार

सीधी के जिला पंचायत कार्यपालन अधिकारी कोविड-19 की चपेट में आए

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like करे

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *