2020/chachi_bhabhi.jpg

38 साल की चाची को ही दिल दे बैठा 23 साल का भतीजा, चाची भी हो गई भतीजे की दीवानी, फिर शुरू हुआ खौफनाक मंजर, पढ़िए

RewaRiyasat.Com
Shashank Dwivedi
13 Apr 2021

'ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना ही समझ लीजे इक आग का दरिया है और डूब के जाना है'. प्यार हो जाने के बाद न रिश्ता दिखता और न रिश्तेदारी. ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ से आया है जहां रिश्ते को शर्मसार करने वाली वारदात हुई है. 

मेरठ : उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक चौका देने वाला मामला आया है. जहां रिश्ते की चाची अपने ही भतीजे को दिल दे बैठी थी. यही नहीं मोहब्बत के आगोश में दोनों इस कदर खो गए थे की इन्हे समाज की भी परवाह नहीं थी. 

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक गुड्डू नाम का 23 वर्षीय युवक मेरठ में रहकर बीफार्मा की पढाई कर रहा था. इस बीच 4 बच्चो को माँ और रिश्ते में उसकी चाची से उसे कब प्यार हो गया उसे पता ही नहीं चला. धीरे-धीरे इनके रिश्ते को 4 साल बीत गए. चाची भतीजे को जब लगने लगा की उनके रिश्ते को कोई नहीं समझेगा तो दोनों ने आत्महत्या कर ली. 

कई सालो से चल रहा था प्रेम 

प्रेम के रस में डूबे चाची-भतीजा को जब अपनी गलती का अहसास हुआ तब तक बहुत देर हो चुकी थी. उन्हें लगने लगा की अब उन्हें समाज स्वीकार नहीं करेगा। इस टेंशन में उन्होंने आत्महत्या करने का फैसला किया। इस बीच प्रेमी भतीजे नहीं पहले चाची के सीने में गोली मारी फिर खुद के कनपटी में गोली मारकर अपनी लीला समाप्त कर ली. 

सुसाइड नोट भी मिला 

सुसाइड नोट में भतीजे ही हैंडराइटिंग थी लेकिन आवाज चाची की थी. चाची ने भतीजे से लिखवाया की मै अनपढ़ हूँ. मुझे लिखना नहीं आता इसलिए मै गुड्डू से लिखवा रही हूँ. गुड्डू और मै एक दूसरे को बहुत प्रेम करते है. हम एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते इसलिए हम अपनी लीला समाप्त कर रहे है. और हमारी मौत के बाद हमारे परिजनों को परेशान न किया जाएं। 

सरकार का फरमान, शादी कार्ड में दर्ज करें जन्मतिथि

गांव में मिली लाश

बताया जाता है की दोनों का शव गांव से कुछ दूर मिला था. शव मिलने के बाद गांव में हड़कंप मच गया. सुसाइड नोट मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी है. वही मृतक युवक गुड्डू ने अपने भाई को 3 सेकंड का आडियो भी भेजा था. जिसमे वो उससे माफ़ी मांगते हुए कहा की भाईजान आज दो शव मिलेंगे। इसके बाद उन्होंने आत्महत्या कर ली. 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER