2021/Chitra Navratri 2021.jpg

Chitra Navratri 2021, Pujan Vidhi Shubh Muhurt : कब से शुरू हो रही चैत्र नवरात्रि, जानिए कलश स्थापना दिन एवं परौणिक कथा

RewaRiyasat.Com
Manoj Shukla
28 Feb 2021

Chitra Navratri 2021, Pujan Vidhi Shubh Muhurt : हिन्दू धर्म में नवरात्रि पर्व का बड़ा महत्व हैं। नवरात्रि के समय मां के 9 अलग-अलग रूपों की विधि-विधान से पूजा अर्चना भक्त करते हैं। वैसे नवरात्रि साल में चार बार पड़ती है। लेकिन शारदेय नवरात्रि एवं चैत्र नवरात्रि को भक्त बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। साल 2021 की चैत्र नवरात्रि अप्रैल माह में पड़ने जा रही हैं।

Chitra Navratri 2021, Pujan Vidhi Shubh Muhurt : कब से शुरू हो रही चैत्र नवरात्रि, जानिए कलश स्थापना दिन एवं परौणिक कथा

नवरात्रि के दिन मां के मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती हैं। जहां सभी लोग आदिशक्ति की पूजा-अर्चना करते हैं, जल चढ़ाते है और सभी कष्टों से मुक्त रखने की कामना करते हैं। ऐसे में चलिए जानते हैं चैत्र नवरात्रि की शुरूआत कब से हो रही हैं और कब कलश स्थापना आदि के लिए शुभ मुर्हूत है।

चैन नवरात्रि

हिन्दू पंचांगों की माने तो साल 2021 की चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू होने जा रही हैं। जिसका समापन 22 अप्रैल को होगा। कलश स्थापना भी 13 अप्रैल को किया जाएगा। इसके बाद भक्त विधि-विधान से 9 दिनों तक मां के अलग-अलग रूपों की पूजा-अर्चना करेंगे। समापन के दिन मां के मंदिरों में वृहद भण्डारे आदि आयोजन होता हैं। चैत्र नवरात्रि के समापन के दिन रामनवमी पर्व होता हैं। इस दिन कई जगह मंदिर प्रांगण में मेले आदि का आयोजन भी किया जाता है। 

पौराणिक कथा

चैत्रनवरात्रि को लेकर पौराणिक कथा है कि इस दिन जगत जननी मां जगदम्बा ने महिषासुर नामक रक्षक का वध करके सभी देवी-देवताओं को मुक्त कराया था। कहा जाता है कि महिषासुर ने कठिन तपस्या करके भगवान शिव को प्रसन्न किया था। और उसने अद्वितीय शक्ति प्राप्त कर ली थी। जिससे ब्राम्हा, विष्णु एवं खुद भगवान शंकर भी भयभीत थे। लिहाजा सभी ने अपनी शक्तियों को मिलाकर मां दुर्गा को अवतरित किया। मां दुर्गा ने महिषासुर नामक रक्षक का वध करके सभी देवी-देवताओं के कष्ट को दूर किया। 

Chitra Navratri 2021, Pujan Vidhi Shubh Muhurt : कब से शुरू हो रही चैत्र नवरात्रि, जानिए कलश स्थापना दिन एवं परौणिक कथा

इन 9 देवियों की होती है पूजा

चैत्र नवरात्रि के समय मां दुर्गा के 9 अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। इस दिन कई लोग व्रत आदि भी रखकर उपासना करते हैं। कई लोग तो पूरे 9 दिन तक व्रत रखते हैं। नवरात्रि के दिन पहले दिन शैल पुत्री, शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्रि की पूजा की जाती है।

नवरात्रि पूजा विधि

जैसा कि हमने आपको बताया कि चैत्र नवरात्रि 2021 की शुरूआत 13 अप्रैल प्रतिपदा तिथि से हो रही हैं। इस दिन लोगों को प्रातःकाल में स्नानआदि करके सभी पूजन सामग्री जैसे, फूल, अक्षत, धूप, दीप, नैवेद्य, नए वस्त्र, मां की चुनरी, फल-फूल आदि से विधि-विधानपूर्वक पूजा-पाठ करके मां की स्तुति करते हुए कलश की स्थापना करें। शाम को मां की विधि-विधान से आरती करें। भोग लगाएं। मान्यता है कि ऐसा 9 दिनों तक करने से भक्तों पर मां की विशेष कृपा प्राप्त होती है और भक्त दुख दूर होते हैं और व्यक्ति सुखमय जीवन की जीता हैं।

Kareena Kapoor के घर गूंजी दूसरी बार किलकारी, नन्हीं परी के साथ वायरल हुई तस्वीर, जानिए पूरा माजरा!

बाॅलीवुड रेखा ने इन फिल्मों में निभाए बोल्ड किरदार, कभी अक्षय कुमार के साथ तो कभी ओमपुरी के साथ बटोरी सुर्खियां

परिणीति चोपड़ा इस स्टार की है दीवानी, 18 साल की उम्र कर चुकी है पहला किस 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER