केंद्रीय मंत्री बनने की रेस में सतना सांसद गणेश सिंह

केंद्रीय मंत्री बनने की रेस में सतना सांसद गणेश सिंह, जानिए कैसे…

मध्यप्रदेश सतना

रीवा। सतना से लगातार चौथी बार सांसद का चुनाव जीतने वाले गणेश सिंह (Ganesh Singh) के राजनैतिक कौशल की धमक अब केंद्रीय राजनीति तक पहुँच चुकी है।

सूत्रों की माने तो उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल करने की चर्चा जोरो पर है। सांसद गणेश सिंह को पिछड़ा वर्ग कोटे से सशक्त दावेदार माना जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में विस्तार की तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए प्रदेश के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) तथा पिछड़ा वर्ग कोटे से सतना सांसद गणेश सिंह सहित कई नए चेहरों को जगह मिल सकती हैं। वहीं कुछ मंत्रियों की छुट्टी करने की तैयारी भी हो चुकी है। यह एक बड़ा फेरबदल होने जा रहा है जो सुर्खियों में होगा।

वर्तमान में प्रधानमंत्री सहित 22 कैबिनेट मंत्री हैं। केंद्रीय कैबिनेट में मंत्रियों की यह संख्या अब तक की सबसे कम है। मंत्रिमंडल विस्तार में देरी के कारण कैबिनेट मंत्रियों के पास जरूरत से ज्यादा अतिरिक्त प्रभार हैं।

केंद्रीय मंत्री बनने की रेस में सतना सांसद गणेश सिंह

विंध्य का गौरव बढ़ेगा

सतना से लगातार चौथी बार सांसद बनने का रिकार्ड गणेश सिंह के पास है। सतना सांसद गणेश सिंह को केंद्रीय मंत्री बनाये जाने पर विंध्य क्षेत्र का गौरव बढ़ेगा। यहीं नहीं विंध्य का राजनैतिक महत्व भी दिल्ली में बढ़ जाएगा। खासतौर से रीवा संभाग की राजनैतिक फिजा बदलेगी। यह काफी अंतराल के बाद अवसर होगा जब रीवा, सीधी अथवा सतना का कोई सांसद केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होगा।

Congress में BJP का विकल्प बनने की क्षमता ही नहीं, चुनाव के समय शिमला में पिकनिक मना रहें थे राहुल गाँधी : RJD

गणेश सिंह को केंद्रीय मंत्री बनाये जाने की चर्चा से रीवा, सीधी, सतना के आमजनों में उत्साह का संचार हुआ है। लोगों का मानना है कि गणेश सिंह के मंत्री बनने से विंध्य के विकास में पंख लग जाएंगे।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

Tagged

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *