23 नवंबर से खुलेंगी मध्यप्रदेश की सभी अदालतें, आमने-सामने होगी सुनवाई

सिंगरौली: राजस्व रिकार्ड में आठ वर्षीय मासूम बना अतिक्रमणकारी, नोटिस के साथ पेशी में उसके पहुचते ही मच गई खलबली, पढ़िए पूरा मामला

मध्यप्रदेश सिंगरौली

सिंगरौली: राजस्व रिकार्ड में आठ वर्षीय मासूम बना अतिक्रमणकारी, नोटिस के साथ पेशी में उसके पहुचते ही मच गई खलबली, पढ़िए पूरा मामला

सिंगरौली। मध्यप्रदेश के जिला सिंगरौली अंतर्गत तहसील सरई में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक आठ वर्षीय मासूम बालक हांथ में धारा 248 अतिक्रमण की नोटिस थामे अपने वकील के साथ पेशी करने पहुंच गया। इस बच्चे को देखने तहसीलदार के कक्ष में भारी भीड़ उमड़ पड़ी।

जानकारी के मुताबिक तहसील सरई अंतर्गत हल्का मझौली के पटवारी वंशगोपाल पनिका के माध्यम से यह नोटिस मझौली निवासी प्रकाश नारायण शर्मा के 8 वर्षीय पुत्र के नाम भेजी गई थी। जिस पर धारा 248 की कार्रवाई करते हुए 6 अक्टूबर को तहसीलदार के समक्ष उपस्थित होने के लिए निर्देशित किया गया था।

तहसीलदार ने समाप्त किए प्रक्ररण

मामले की भनक लगते ही तहसीलदार श्री प्रजापति ने राजस्व निरीक्षक राजेन्द्र प्रसाद कोरी और पटवारी वंशगोपाल पनिका से स्पष्टीकरण मांगते हुए मासूम बालक के विरुद्ध पंजीबद्ध अतिक्रमण का प्रकरण समाप्त कर दिया है।

सीधी: चुरहट तहसीलदार पर हरिजनों ने लगाया आरोप, कलेक्टर को भेजा शिकायती पत्र दी आमरण अनशन की चेतावनी..

यह था मामला

इस सम्बंध में तहसीलदार श्री प्रजापति ने बताया कि मझौली निवासी अशोक शर्मा ने शिकायत की थी कि गांव के कुछ लोगो ने सड़क पर अतिक्रमण कर लिया है। इस शिकायत पर आरआई और पटवारी को सीमांकन करने भेजा गया था। जहां पटवारी के स्थल पंचनामा और प्रतिवेदन के आधार पर 4 लोगो के विरुद्ध धारा 248 के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए तलबी नोटिस जारी की गई थी । इन चार लोगों में दो लोग पहले ही उपस्थित हो चुके थें। जिनके विरुद्ध जुर्माना की कार्रवाई कर दी गई थी ।

आरआई पटवारी पर हो सकती है कार्रवाई

तहसीलदार ने बताया कि वे पूरे मामले की जांच करा रहे हैं। अगर स्थल पंचनामा गलत पाया जाता है तो आरआई और पटवारी दोनो के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दोनो से स्पष्टीकरण मांगा गया है। सिगरौली क्षेत्र में चर्चा का विषय बन चुके इस मामले में मासूम बालक के वकील ने बताया कि उनके अनावेदक के माता-पिता मौजूद हैं बावजूद तहसील न्यायालय से जारी नोटिस का परिपालन करते हुए वे मासूम बालक को लेकर पेशी पर उपस्थित हुए हैं ।

शिवराज के घुटनों के बल बैठे तस्वीर पर कमलनाथ ने दिया बयान: कहा- झूठे वादे एवं जनता को बेवकूफ न बनाए होते तो आज घुटनों के बल न बैठना पड़ता

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *