रीवा: रविवार रहा राहत भरा दिन 23 मरीजों ने दी कोरोना को मात, 20 नए मिले, उपचार के दौरान एक की मौत

रीवा: रविवार रहा राहत भरा दिन 23 मरीजों ने दी कोरोना को मात, 20 नए मिले, उपचार के दौरान एक की मौत

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: रविवार रहा राहत भरा दिन 23 मरीजों ने दी कोरोना को मात, 20 नए मिले, उपचार के दौरान एक की मौत

रीवा (विपिन तिवारी ) । रविवार का दिन जिले के प्रशासनिक अमले को राहत देने वाला रहा, क्योंकि जिले में जितने संक्रमित मरीज मिले, उससे ज्यादा मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे। रविवार को 23 मरीजों ने कोरोना को हराकर विजय पाई। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें घर तक भेजने की व्यवस्था कराई गई। वहीं 20 नये मरीजों के मिलने के बाद उन्हें आइसोलेट कराने की व्यवस्था मेें स्वास्थ्य अमला सक्रिय रहा।
हालांकि जानकारों की मानें तो यह राहत स्थाई नहीं हो सकती, क्योंकि संक्रमण का खतरा दिन प्रतिदिन गंभीर होता जा रहा है। इस पर अंकुश लगाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। प्रशासन द्वारा इसे रोकने की कोशिश निरंतर जारी है, लेकिन कोरोना वायरस की रफ्तार के आगे सब कुछ फेल लग रहा है। फिलहाल कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ाने में आमजन खुद जिम्मेदार हैं। सुबह से लेकर देर रात्रि तक लोगों की भीड़ सड़क से लेकर बाजार में देखी जा रही और जहां सोशल डिस्टेंसिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। बिना मास्क लगाये लोग निकल रहे हैं, जो कोरोना वायरस के संक्रमण को खुला आमंत्रण दे रहे हैं। 

एंंटीजन किट में मिले सर्वाधिक संक्रमित

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को रैपिड एंटीजन किट से जिन लोगों की जांच की गई, उसमें सर्वाधिक संक्रमित मरीज चिन्हित किए गए हैं। रविवार को 544 लोगों का रैपिड टेस्ट किया गया, जिसमें 12 लोग पॉजिटिव आये। वहीं मेंडिकल कालेज के वीआरडीएल में 405 लोगों के लिए गए सैंपलों की जांच की गई, जिसमें 8 लोग पॉजिटिव मिले। ट्रूूनाट मशीन से एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिले। इस तरह से रविवार को कुल 850 सेंपलों की जांच की गई, जिसमें 20 लोग संक्रमित पाये गए। 

उपचार के दौरान एक ने तोड़ा दम

संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई। बताया गया है कि पुरैना निवासी 57 वर्षीय एक महिला शुगर और बीपी से पीडि़त थी। तबीयत खराब होने पर उसे इलाज के लिए संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया, जहां जांच के दौरान उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया। जांच के उपरांत उसे अस्पताल के कोविड वार्ड में आइसोलेट कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।
इसकी जानकारी अस्पताल प्रबंधन द्वारा प्रशासनिक अमले को दी गई और शव का अंतिम संस्कार नगर निगम अमले द्वारा कराया गया। वहीं एक और मरीज की मौत अस्पताल लाते वक्त हो गई। बताया गया है कि सतना जिले के रामनगर निवासी 82 वर्षीय वृद्ध को कई दिनों से बुखार आ रही थी। इलाज भी कराया, लेकिन हालत बिगडऩे पर उसे संजय गांधी अस्पताल लाया गया जहां अस्पताल परिसर पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। परिजनों द्वारा इस बात की जानकारी प्रबंधन को दी गई। जहां जांच उपरांत उसे कोरोना संक्रमित बताया गया। हालांकि परिजन इस बात को सिरे से खारिज कर रहे हैं और अब शव का पोस्टमार्टम कराने पर जोर दे रहे हैं। 

अब तक 1667 हुए संक्रमित

जिले भर में अब तक कुल 1667 लोग संक्रमित हो चुके हैं। संक्रमित मरीजों का उपचार किया गया जिसके उपरांत अब तक 1267 मरीज स्वस्थ भी हो चुके हैं, वहीं 27 मरीजों ने दम तोड़ दिया। इसलिए यह माना जा रहा है कि जिले में रिकवरी रेट संतोषजनक है। वर्तमान में एक्टिव केस 378 बताए गए हैं, जिनका उपचार किया जा रहा है।
[signoff]