MP Police के लिए फिर शुरू हुआ Weekly Off, Constable समेत इन अधिकारियों को मिलेगा फायदा

MP Police के लिए फिर शुरू हुआ Weekly Off, Constable समेत इन अधिकारियों को मिलेगा फायदा

भोपाल मध्यप्रदेश

MP Police Weekly Off / मध्यप्रदेश पुलिस कर्मियों के लिए खुशखबरी है. 10 माह बाद एक बार फिर प्रदेश में पुलिसकर्मियों के लिए Weekly Off शुरू हो चुका है. इसकी शुरुआत भोपाल से की जा चुकी है. Weekly Off की शुरुआत करने के मामले वाला भोपाल राज्य का पहला जिला बन गया है.

MP Police को Weekly Off गश्त करने के अगले दिन मिलेगा. राज्य में पहले ही स्टाफ की कमी है. Weekly Off दिए जाने से थाना स्तर में पुलिसकर्मी कम पड़ जाएंगे. बावजूद अधिकारियों का मानना है कि पुलिसकर्मियों को Weekly Off देने से वे एक दिन अपना पूरा वक़्त बिना किसी चिंता के अपने परिवार के साथ बिता सकेंगे और जब वे ड्यूटी पर लौटेंगे तब उनकी कार्यक्षमता भी बनी रहेगी और तनाव कम होने से कार्य करने के प्रति उत्साह भी बढ़ जाएगा.

यूरिया-राशन की कालाबाजारी पर भड़के सीएम शिवराज, बोलें- लापरवाही बर्दाश्त नहीं, सख्त एक्शन लिया जाएगा

कमलनाथ सरकार में शुरू हुआ था वीकली ऑफ

पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ देने की योजना कमलनाथ सरकार की थी. चुनाव के दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र में भी इसका जिक्र था, जिसे सत्ता में आते ही कमलनाथ सरकार ने लागू भी किया था. लेकिन कुछ ही समय बाद इसे बंद कर दिया गया. अब शिवराज सरकार ने एक बार फिर से इसकी शुरुआत कर दी है.

कोरोना काल में 16 से 24 घंटे तक की ड्यूटी

पुलिस अधिकारियों की मानें तो कोरोना काल में अधिकाँश पुलिसकर्मियों ने 16 से 24 घंटे तक ड्यूटी की. इस बीच किसी को छुट्टी नहीं दी गई. जिन्होंने अवकाश माँगा उनका भी आवेदन अस्वीकार किया गया था. साथ ही उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने की परमिशन भी नहीं दी गई थी. पूरे कोरोना काल में पुलिसकर्मी कोरोना वारियर बनकर जनता की सेवा में जुटे रहें. ऐसे में भोपाल में पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ देने का फैसला लिया गया है. इस फैसले के तहत अब मैदानी पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ दिया जा रहा है. इस वीकली ऑफ से पुलिसकर्मियों को सप्ताह में एक दिन अपने परिवार के साथ रहने का समय मिल रहा है.

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

मध्यप्रदेश में अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए भी बदले नियम, पढ़िए जरूरी खबर

नायब तहसीलदार ने पत्र लिखकर कहा, कलेक्टर साहब अवैध रेत की जाँच कराएं..