एमपी: घर लौटे मज़दूरों को गाँव वालों ने घुसने नहीं दिया, सड़क किनारे सो गए तो ट्रक ने कुचल दिया, तीन की मौत

एमपी: घर लौटे मज़दूरों को गाँव वालों ने घुसने नहीं दिया, सड़क किनारे सो गए तो ट्रक ने कुचल दिया, तीन की मौत

उज्जैन मध्यप्रदेश

उज्जैन. भूख से मौत न हो इसलिए जहाँ मजदूरी करते थें वहां से लौटकर आ तो गए, पर गाँव वालों ने गाँव में घुसने नहीं दिया. इस वजह से मज़दूरों को सड़क किनारे सोना पड़ा और ट्रक ने कुचल दिया, जिससे तीन लोगों की दर्दनाक मौत हो गई.

रीवा में नवजात को जन्म देकर नाबालिका ने लेबर रूम में लगाई फांसी, मौत

ये मज़दूर कोरोनावायरस के प्रकोप से बचकर राजस्थान के जैसलमेर से अपने गृह ग्राम मध्यप्रदेश लौटे थें. हादसा बुधवार तड़के भैरवगढ़ स्थित साडू माता मंदिर सड़क के मोड़ पर हुआ. हादसे के समय मजदूर सड़क के किनारे सो रहे थे.

जानकारी के अनुसार उज्जैन के मोहनपुरा गांव के 12 मजदूर राजस्थान के जैसलमेर में मजदूरी करने गए थे. कोरोनावायरस के चलते लगे लॉकडाउन से वे जैसलमेर में ही फंस गए. मप्र सरकार द्वारा बस भेजकर राजस्थान से मप्र के मजदूरों को लाया गया था जिसमें उक्त 12 मजदूर भी शामिल थे.

54 साल की उम्र में Bollywood के मशहूर अभिनेता Irrfan Khan का निधन

राजस्थान से आए इन मजदूरों ने जब अपने गांव में प्रवेश करना चाहा तो गांववालों ने आपत्ति ली और कोरोना जांच कराने को कहा. इसके बाद यह मजदूर गांव से पैदल चलकर उज्जैन के आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज जांच के लिए पहुंचे थे. संभवत: वहां से लौटते समय भैरवगढ़ स्थित साडू माता मंदिर के पास सड़क किनारे सो गए थे.

तड़के लगभग 4 बजे इंदौर से मैदा लेकर उज्जैन से गुजर रहा एक ट्रक इन मजदूरों पर चढ़ गया. हादसे में तीन मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई. हादसे के बाद ड्राइवर ट्रक छोड़कर भाग गया. पुलिस के अनुसार मृतकों में दो पुरुष व एक महिला शामिल है. जिनकी शिनाख्त विक्रम, बद्री और  भोली बाई निवासी ग्राम मोहनपुरा, भैरवगढ़ थाना क्षेत्र के रूप में की गई है.

Facebook Comments