मध्यप्रदेश में संविदाकर्मियों के मानदेय की मांग पूरी, 15 हजार रुपये तक का लाभ

MP: CM SHIVRAJ का बड़ा ऐलान, इन्हे हर माह 10 हजार रूपए दिया जाएगा

मध्यप्रदेश

MP: CM SHIVRAJ का बड़ा ऐलान, इन्हे हर माह 10 हजार रूपए दिया जाएगा

भोपाल | प्रदेश के जो स्वास्थ्य कार्यकर्ता कोरोना मरीजों के इलाज में जुटे हुए हैं, सरकार उन्हें हर महीने 10 हजार रुपए सेवा राशि देगी। इस सेवा कार्य में लगे अन्य विभागों के कर्मचारी यदि संक्रमित होते हैं, तो सरकार उन्हें भी 10 हजार रु. की राशि देगी। मुख्यमंत्री शिवराज (CM SHIVRAJ) सिंह चौहान ने शुक्रवार को सरकार के इस फैसले की जानकारी दी।  

पोस्ट ऑफिस के कर्मचारियों को नहीं मिला मास्क-सेनेटाइजर, समाजसेवी भी नहीं ले रहें रूचि

मुख्यमंत्री ने बताया कि इंदौर सहित प्रदेशभर में बड़े पैमाने पर कोरोना टेस्टिंग की गई है। इस कारण शुरुआत में आंकड़े ज्यादा दिखाई दे रहे हैं। जल्द ही इस बीमारी पर प्रभावी नियंत्रण हो जाएगा। सभी संक्रमित क्षेत्रों को सील कर वहां व्यापक सर्वे करवाया है, जिससे कोई भी संक्रमित व्यक्ति टेस्ट से छूटे नहीं और संक्रमण पूरी तरह से रुक जाए। 

मुख्यमंत्री शिवराज (CM SHIVRAJ) ने बताया कि जबलपुर, ग्वालियर, मुरैना, शिवपुरी आदि जिलों में कोरोना पर नियंत्रण पाया है। शिवपुरी में अब एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं है। प्रदेश में बड़ी संख्या में कोरोना प्रभावित मरीज ठीक होकर घर जा रहे हैं। 

Shivraj Cabinet : नाम तय, अब हाईकमान से हरी झंडी मिलने का इंतज़ार

दूसरे राज्यों में 1.10 लाख मजदूर फंसे

मप्र के 1.10 लाख मजदूर दूसरों राज्यों में फंसे हुए हैं। इनकी जानकारी विधायकों, सांसदों और जिलाध्यक्षों के जरिए भाजपा ने जुटाकर शासन को सौंप दी है। जिन मजदूरों के नाम, मोबाइल नंबर और खातों की जानकारी है, उनके खातों में शनिवार से सरकार एक-एक हजार रुपए डालेगी। मुख्यमंत्री ने इसके लिए दीपाली रस्तोगी समेत तीन आईएएस अफसरों की समिति बनाई है। गुजरात के अहमदाबाद, सूरत, वलसाड, वडाेदरा में सबसे ज्यादा 35 हजार मजदूर मप्र के हैं। महाराष्ट्र के विभिन्न जिलों में करीब 35 हजार, राजस्थान में 15000 मजदूर फंसे हैं

Facebook Comments