विंध्य

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए सीधी सांसद रीति पाठक ने निधि से दिए 75 लाख, विधानसभा अघ्यक्ष ने दिये 50 लाख

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए सीधी सांसद रीति पाठक ने निधि से दिए 75 लाख, विधानसभा अघ्यक्ष ने दिये 50 लाख
x
सीधी (Sidhi News) :  बढ़ते कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने, सीधी जिले की सांसद रीति पाठक (Sidhi Sansad Riti Pathak) ने 75 लाख रूपये की राशि सांसद निधि से जारी की है।

सांसद की बचत आई काम, सीधी-सिंगरौली में होंगा खर्च

सीधी (Sidhi News) : बढ़ते कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने, सीधी जिले की सांसद रीति पाठक (Sidhi Sansad Riti Pathak) ने 75 लाख रूपये की राशि सांसद निधि से जारी की है।

सीधी सांसद ने सिंगरौली एवं सीधी जिलों के कलेक्टर को पत्र लिख कर सांसद निधि से जारी की गई राशि का उपयोग आरटी-पीसीआर (RT-PCR) मशीन की व्यावस्था बनाने में खर्च करने का बात कही है।

ज्ञात हो कि उक्त मशीन से मरीजों को ऑक्सीजन दिया जाता है। कोरोना मरीजों में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। यही वजह है कि सांसद ने मशीन की खरीदी करने के लिये दोनों जिलों को धनराशि उपलब्ध करावाई है।

प्रारंभिक बजट से किया था बचत

सांसद रीति पाठक ने बताया कि उन्होने जो 75 लाख रूपये की राशि सांसद निधि से जारी की है यह उनके प्रारंभिक बजट की बची हुई धनराशि है।

ज्ञात हो कि केन्द्र सरकार के द्वारा सांसद निधि के खर्च पर फिलहाल रोक लगाई गई है। ऐसे में सांसद रीति पाठक द्वारा पूर्व के बजट में की गई बचत आज मरीजों के काम आ रही है।

सीधी में 25, सिंगरौली में 50 लाख होगा खर्च

सांसद रीति पाठक ने बताया कि उन्होने आरटी-पीसीआर मशीन की खरीदी करने के लिये सीधी कलेक्टर को 25 लाख तथा सिंगरौली कलेक्टर को 50 लाख रूपये की धनराशि सांसद निधि से खर्च करने के लिये पत्र भेज दिया है।

विधानसभा अध्यक्ष ने एसजीएमएच को दिये 50 लाख

रीवा जिले के देवतालाब विधायक एवं मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष गिरीश गौतम ने विधायक निधि से 50 लाख रुपए की धनराशि रीवा के संजय गांधी अस्पताल को दिये है।

उन्होने कलेक्टर को पत्र लिख कर कहां कि विधायक निधि की धनराशि से वे सजंय गांधी अस्पताल में मशीनरी की व्यवस्था बनाने एंव डॉक्टरो के किट सहित अन्य जरूरी कार्य में खर्च करके मरीजों को बेहतर इलाज की व्यवस्था बनाई जाये।

कोरोना महामारी में मरीजों के लिये इलाज सहित अन्य व्यवस्था बनाने के लिये जनप्रतिनिधियों के द्वारा सराहनीय सहभागिता निभाई जा रही है।

Next Story