7 साल की मासूम के साथ गैंगरेप, हत्या के बाद लिवर निकालकर चाचा-चाची को खिलाया

UP में कानून का खौफ नहीं, हाथरस में एक और दुष्कर्म, अब 6 साल की मासूम को शिकार बनाया, मौत

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय लखनऊ

लखनऊ. UP में जैसे अपराधियों को क़ानून का खौफ ही नहीं रह गया हो. हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले की आग पूरी देश में थमी नहीं कि एक बार फिर उसी जिले से दुष्कर्म का मामला सामने आ गया है. इस बार दुष्कर्मी ने 6 साल की मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया है. मासूम की मौत हो चुकी है.

मध्यप्रदेश / नवविवाहिता के साथ दबंगों ने किया गैंगरेप, 3 गिरफ्तार, 4 फरार

बता दें हाथरस में दुष्कर्म का एक और मामला सामने आया है. इस बार 6 साल की बच्ची के साथ रेप किया गया है, जिससे बच्ची की मौत हो गई है. सूचना मिलते ही पुलिस ने फ़ौरन ही मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन लोग भड़के हुए हैं. रास्ते जाम कर दिए गए हैं. सरकार के खिलाफ नारे लग रहें हैं. पुलिस अमला मौके पर मौजूद है एवं परिजनों को समझाने की कोशिश में जुटा हुआ है.

UP में कानून का खौफ नहीं, हाथरस में एक और दुष्कर्म, अब 6 साल की मासूम को शिकार बनाया, मौत

उत्तरप्रदेश का हाथरस इन दिनों राजनीति का केंद्र भी बन गया है. कुछ दिनों पूर्व हुई गैंगरेप और हत्या पर विपक्ष सरकार पर हावी है. लगातार योगी सरकार की किरकिरी हो रही है. इसके बाद एक और रेप की घटना ने समूचे देश को शर्मसार कर दिया है.

राहुल गाँधी एवं प्रियंका गाँधी वाड्रा ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है. इधर, सरकार ने हाथरस गैंगरेप एवं हत्या मामले में कई प्रशासनिक अधिकारियों को निलंबित कर दिया है.

सरकार पर बिफरी मायावती

मायावती ने मंगलवार सुबह दो ट्वीट किए है. पहले ट्वीट में मायावती ने लिखा है कि ‘हाथरस काण्ड की आड़ में विकास को प्रभावित करने हेतु जातीय व साम्प्रदायिक दंगा भड़कानेे की साजिश का विपक्ष पर लगाया गया यूपी सरकार का आरोप सही या चुनावी चाल, यह समय बताएगा, किन्तु जनमत की माँग कि हाथरस काण्ड के पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने पर सरकार ध्यान केन्द्रित करे तो बेहतर.’

राजौरी के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्षविराम उल्लंघन में जवान शहीद

दूसरे ट्वीट में मायावती ने लिखा ‘वैसे हाथरस काण्ड को लेकर पीड़िता परिवार के साथ जिस प्रकार का गलत व अमानवीय व्यवहार किया गया उससे देश भर में काफी रोष व आक्रोश. सरकार अब भी गलती सुधारे व पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए गंभीर हो वरना जघन्य घटनाओं को रोक पाना मुश्किल होगा.’

यहाँ क्लिक कर हमारा Facebook Page Like करें

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *