उत्तरप्रदेश

आखिर UP में ऐसा क्या हो रहा है कि लगातार सरेंडर कर रहें हैं गैंगस्टर? शामली में एक माह में 22 बदमाशों ने हांथ उठाकर किया आत्मसमर्पण! एनकाउंटर का खौफ या...

Aaryan Dwivedi
28 July 2021 11:07 PM GMT
आखिर UP में ऐसा क्या हो रहा है कि लगातार सरेंडर कर रहें हैं गैंगस्टर? शामली में एक माह में 22 बदमाशों ने हांथ उठाकर किया आत्मसमर्पण! एनकाउंटर का खौफ या...
x
बुधवार को शामली पुलिस (Shamli Police) के सामने 6 गैंगस्टर ने सरेंडर (Shamli Gangster Surrender) किया, एक माह में 22 लोगों ने किया आत्मसमर्पण 

बुधवार को शामली पुलिस (Shamli Police) के सामने 6 गैंगस्टर ने सरेंडर (Shamli Gangster Surrender) किया, एक माह में 22 लोगों ने किया आत्मसमर्पण

एक समय था जब यूपी में गैंगस्टर (Gangster in UP) का सिक्का चलता था. अपराध अपने चरम पर था, जब जिसे चाहे उठा लेते और गोली मार देते. लेकिन अब यूपी की तस्वीर बदल गई है. पूरे राज्य में लगातार अपराधियों का सरेंडर जारी है. इसे पुलिस एनकाउंटर (Police Encounter) का खौफ कहा जाय या फिर कुछ और...पर हकीकत तो यही है कि यूपी साफ़ हो रहा है. बात पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली (Shamli) की करें तो एक माह के भीतर 22 गैंगस्टर ने पुलिस (Shamli Police) के सामने हाँथ उठाकर सरेंडर (Gangster Surrender in Shamli) किया है.

शामली उत्तरप्रदेश का वही जिला है जहां एक समय बदमाशों का खौफ रहता था. परन्तु अब ऐसे गैंगस्टरों के आत्मसमर्पण (Surrender) का दौर जारी है. बुधवार को भी 6 बदमाशों ने पुलिस के सामने सरेंडर किया है. फुरकान, फरमान, तासीम, इनाम, नौशाद और हाशिम ने न सिर्फ पुलिस के सामने सरेंडर किया बल्कि आगे से किसी भी अपराध में न शामिल होने और न ही करने की कसम खाई है. पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी के पहले इन सभी ने जेल से वापसी के बाद सामान्य जीवन बिताने का वादा किया है.

पुलिस के मुताबिक, करीब पांच महीने पहले समाजवादी पार्टी के विधायक चौधरी नाहिद हसन और उनकी मां तबस्सुम हसन समेत 40 लोगों पर गैंगस्टर ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. आठ आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है जबकि 16 आरोपी सरेंडर कर चुके हैं. इसी मामले में छह आरोपियों ने बुधवार को कैराना कोतवाली पहुंचकर सरेंडर कर दिया. इस तरह इस केस में अब तक कुल 30 आरोपी जेल भेजे जा चुके हैं.

कैसे शुरू हुआ बदमाशों के सरेंडर का सिलसिला?

पिछले हफ्ते शुक्रवार को ही गैंगस्टर के तीन आरोपी मोमीन, इंतजार और मंगता ने पुलिस के सामने सरेंडर किया था. पिछले एक महीने के दौरान शामली में बदमाशों के थाने पहुंचकर खुद सरेंडर करने का ट्रेंड चल पड़ा है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह है कि पुलिस ने लंबे समय से फरार चल रहे इन बदमाशों पर कानूनी कार्रवाई का दबाव बनाया. इसके अलावा पिछले कुछ महीने में प्रदेश में कई जगह पुलिस एनकाउंटर्स (UP Police Encounter) की घटनाओं ने भी इनके मन में डर बनाने का काम किया. नतीजा है कि गैंगस्टर अपने आप थाने पहुंचकर सरेंडर कर रहे हैं.

SP ने बताया, एक महीने में 22 गैंगस्टरों ने किया सरेंडर

शामली के एसपी सुकीर्ति माधव ने कहा, 'पिछले एक महीने में हमने लंबे समय से वांछित चल रहे गैंगस्टर्स पर शिकंजा कसा है. कई नोटिसों, मुनादी के बाद भी पुलिस के सामने पेश न होने वाले इन बदमाशों की संपत्ति कुर्क की प्रक्रिया भी शुरू की गई थी. लगातार बढ़ते कानूनी दबाव का नतीजा यह हुआ है कि पिछले एक महीने में अब तक 22 गैंगस्टर्स सरेंडर कर चुके हैं.' उन्होंने कहा, 'हमारा यह अभियान अभी आगे भी जारी रहेगा.'

Next Story
Share it