उत्तरप्रदेश

पंचतत्व में विलीन हुए पूर्व मुख्यमंत्री, राजनायकों ने दी श्रद्धांजलि, UP की 6 सड़के होंगी कल्याण सिंह के नाम

Former Chief Minister merged into Panchatattva, politicians paid tribute, 6 roads of UP will be in name of Kalyan Singh
x
UP के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (Kalyan Singh) का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

कार सेवकों के द्वारा अयोघ्या का बाबरी मस्जिद गिराये जाने के दौरान यूपी की कमान सम्हालने वाले पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह (Kalyan Singh) पंचतत्व में विलीन हो गए। राजकीय सम्मान के साथ बुलंदशहर जिले के नरौरा स्थित बंशी घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके बेटे राजवीर सिंह ने मुखाग्नि दी।

इन्होने दी श्रद्धाजलि

भाजपा नेता को इसके पूर्व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत कई बड़े नेताओं ने पूर्व सीएम को श्रद्धांजलि दी।

तो वही नरौरी घाट से पहले पूर्व सीएम कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर अतरौली स्थित गेस्ट हाउस में रखा गया। यहां गृह मंत्री अमित शाह, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, प्रहलाद पटेल, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत अन्य लोगो ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। हजारों की संख्या में अलीगढ़ के लोगों ने भी उन्हें नम आंखो से विदाई दी।

यूपी के 6 सड़के कल्याण को समर्पित

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहां है कि अयोध्या समेत 6 जिलों की एक-एक सड़कों का नाम कल्याण सिंह को समर्पित करने का फैसला किया गया है। अयोध्या में राम मंदिर की तरफ जाने वाली सड़क 'कल्याण सिंह मार्ग के नाम से जानी जाएगी। इसके अलावा लखनऊ, बुलंदशहर, एटा, अलीगढ़ और प्रयागराज में भी एक-एक सड़क का नाम पूर्व सीएम के नाम पर रखा जाएगा।

सभी शहरों से है गहरा नाता

डिप्टी सीएम केशव मौर्या ने कहा कि जिन्हे आज हमने खोया है उनका यूपी के ऐसे शहरों से गहरा नाता है। उनका जन्म अलीगढ़ में हुआ इसलिए अलीगढ़ की एक सड़क का नाम बाबू जी के नाम पर रखा जाएगा। एटा और बुलंदशहर उनकी कर्मभूमि रही है। यहां से वो चुनाव भी लड़े और आज भी लोगों की स्मृतियों में है।

प्रयागराज में सड़क का नाम इसलिए रखा जाएगा क्योंकि जब वह प्रयागराज से चित्रकूट जा रहे थे तब उन्हें गिरफ्तार किया गया था। लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी है, इसलिए एक सड़क लखनऊ में भी उनके नाम पर होगी। जबकि अयोध्या में राम मंदिर की तरफ जाने वाली मेन सड़क का नाम कल्याण मार्ग करने की पीछे वजह है, की हम चाहते है कि जब तक राम मंदिर रहेगा तब तक देश और दुनिया के राम भक्त बाबूजी को याद करेंगे।

विधानसभा में सुनाई जायेगी कल्याण सिंह की स्पीच

यह तय किया गया है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा ने भी पूर्व सीएम कल्याण सिंह को अलग तरह से श्रद्धांजलि दी जायेगी और सीएम कल्याण सिंह के विधानसभा में दिए गए स्पीच को जुटाकर उसे जारी किया जाएगा।

89 वर्ष में ली आखिरी सांस

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने 21 अगस्त की रात 9 बजे 89 वर्ष की उम्र में लखनऊ में आखिरी सांस ली। कल्याण सिंह 48 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।

रविवार को लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अन्य ने पूर्व सीएम को श्रद्धांजलि दी थी।

Next Story