अध्यात्म

Pitru Gayatri Mantra: मात्र एक उपाय पितरों को देगा मुक्ति, करें इन 3 पितृ गायत्री मंत्र का जाप

Sandeep Tiwari
26 Sep 2021 3:19 AM GMT
Pitru Gayatri Mantra: मात्र एक उपाय पितरों को देगा मुक्ति, करें इन 3 पितृ गायत्री मंत्र का जाप
x
Pitru Gayatri Mantra: श्रदा पक्ष में यह तीन पितृ गायत्री मंत्र का जप करने से अत्यधिक लाभ होता है।

हिंदी माह के अनुसार इस समय भाद्रपद का महीना चल रहा है। भाद्रपद की पूर्णिमा से पितृ पक्ष (Pitru Paksh) प्रारंभ हो जाता है। यह पित्र पक्ष अंग्रेजी माह के अनुसार सितंबर महीने की 20 तारीख से शुरू हो गया है। पितृ पक्ष में पितरों को उनके तिथि पर श्राद्ध कर पिंड दान किया जाता है। लेकिन इसके अलावा आपके द्वारा किया गया 1 ऐसा कार्य है जो पितरों को मुक्ति दिला सकता है।

क्या है पितृ गायत्री मंत्र (Pitru Gayatri Mantra)

हमारे वेदों में हर समस्या उपाय बताया गया है। ऐसे में पितरों को प्रसन्न करने के लिए पितरों को मोक्ष प्रदान करवाने के लिए पितृ गायत्री पाठ का विधान बताया गया है। इस पितृ गायत्री मंत्र (Pitru Gayatri Mantra) का पाठ करने से पित्रों को मुक्ति मिलती है। इस गायत्री मंत्र का पाठ करने वाले व्यक्ति को भी पितृ और देवताओं का शुभ आशीर्वाद प्राप्त होता है।

3 पितृ गायत्री मंत्र (Pitru Gayatri Mantra)

  • ॐ पितृगणाय विद्महे जगत धारिणी धीमहि तन्नो पितृ प्रचोदयात्।
  • ॐ आद्य भूताय विद्महे सर्व सेव्याय धीमहि। शिव शक्ति स्वरूपेण पितृ देव प्रचोदयात्।
  • ॐ देवताभ्यरू पितृभ्यश्च महायोगिभ्य एव च । नमरू स्वाहायै स्वधायै नित्यमेव नमो नमरू।

श्राद्व के दिन इस पितृ गयात्री मंत्र (Pitru Gayatri Mantra) का पाठ करना चाहिए। इस पाठ को करने वाले के पितरों को मुक्ति मिलती है।

क्या है गायत्री पाठ के नियम (Pitru Gayatri Mantra Rules)

पितृ गयत्री पाठ के लिए स्नान करने के बाद स्वच्छ और सुद्ध वस्त्र धारण करना चाहिए। बाद में पितरो को तर्पण आदि के बाद विधि-विधान से पिंडदान करना चाहिए। इसी दौरान उसे तीनों पितृ गयात्री (Pitru Gayatri Mantra) का पाठ पूरी श्रद्वा के साथ करना चाहिए।

Next Story
Share it