अध्यात्म

May Month Vrat 2021 : अक्षय तृतीया से लेकर जानिए डेट वाइज पड़ने वाले प्रमुख त्यौहार व शुभ मुर्हूत

Manoj Shukla
28 April 2021 4:59 PM GMT
May Month Vrat 2021 : अक्षय तृतीया से लेकर जानिए डेट वाइज पड़ने वाले प्रमुख त्यौहार व शुभ मुर्हूत
x
May Month Vrat 2021  : मई माह आने को अब गिनती के ही दिन बचे हुए है। इस माह में कई प्रमुख त्यौहार पड़ने वाले हैं। जिसमें अक्षय तृतीया से लेकर कई अन्य त्यौहार शामिल हैं। अक्षय तृतीया को हिन्दू धर्म में बेहद ही शुभ दिन माना गया है।

May Month Vrat 2021 : मई माह आने को अब गिनती के ही दिन बचे हुए है। इस माह में कई प्रमुख त्यौहार पड़ने वाले हैं। जिसमें अक्षय तृतीया से लेकर कई अन्य त्यौहार शामिल हैं। अक्षय तृतीया को हिन्दू धर्म में बेहद ही शुभ दिन माना गया है।

May Month Vrat 2021 : अक्षय तृतीया से लेकर जानिए डेट वाइज पड़ने वाले प्रमुख त्यौहार व शुभ मुर्हूत

मान्यता है कि इस दिन विवाह करने, आभूषण खरीदी करने के साथ ही सभी तरह के धार्मिक कार्य करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। ऐसे में चलिए जानते हैं मई माह में पड़ने वाले विशेष त्यौहारों के बारे में। साथ ही जानेंगे पूजा-विधि आदि।

वरुथिनी एकादशी

यह पर्व 7 मई को पड़ने जा रहा है। इस दिन व्रत रखा जाता है। मई महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को वरुथिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है. ये एकदाशी भगवान विष्णु को समर्पित होती है। इस दिन विधि- विधान से पूजा करने से सभी दुख दूर हो जाते है।

शनि प्रदोष

यह पर्व 8 मई को हिंदू पंचांग के अनुसार पड़ने जा रहा है। प्रदोष का व्रत हर महीने की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा-अर्चना की जाती है।

मासिक शिवरात्रि

9 मई को मासिक शिवरात्रि पर्व मनाया जाएगा। यह हर महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है।

अमावस्या

वैशाख महीने में कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को अमावस्या कहा जाता है। यह 11 मई को पड़ रहा है। इस दिन स्नान करने और दान पुण्य करने का विशेष फल की प्राप्ति होती है।

ईद उल फितर

मुस्लमानों के लिए ईद उल फितर प्रमुख त्योहारों में से एक है। ये त्योहार रमजान खत्म होने के बाद मनाया जाता है। जो इस बार 12 मई को पड़ रहा है। इस पर्व को मिठी ईद के नाम से भी जाना जाता है।

अक्षय तृतीय

अक्षय तृतीया को भगवान परशुराम की जयंती के रूप में मनाया जाता है। यह पर्व 14 मई को पड़ रहा है। इस दिन वाहन खरीदी, स्वर्ण खरीदी, विवाह आदि सभी तरह के कार्य करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। अक्षय तृतीया के दिन भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन इनका जन्मोत्सव मनाया जाता है।

विनायक चतुर्थी

हिंदू पंचांग के अनुसार, हर महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी मनाई जाती है। जो इस बार 15 मई को पड़ रही है। इस दिन विधि-पूर्वक पूजा-अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

गंगा सप्तमी

यह पर्व 18 मई को बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। मान्यता है कि वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा स्वर्ग लोक से भगवान शिव की जटाओं में पहुंची थीं। तभी से इस दिन को गंगा जयती के रूप में मनाया जाने लगा।

सीता सप्तमी

यह पर्व 21 मई को मनाया जाएगा। वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को सीता नवमी के नाम से जाना जाता है। इस दिन माता सीता और भगवान राम की पूजा होती है।

मोहिनी एकादशी

वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोहिनी एकादशी कहा जाता है। इस बार 22 मई को यह एकादशी पड़ेगी। इस एकादशी व्रत रखने से पाप का नाश होता हैं एवं पुण्य फल की प्राप्ति होती है।

सोम प्रदोष व्रत

इस माह सोम प्रदोष व्रत 24 मई को है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा होती है। भक्तों पर यह देव अपनी विशेष कृपा बरसाते हैं।

नरसिंह जयंती

भगवान विष्णु के चैथे अवतार नरसिंह हैं जिन्होंने हिरण्यकश्यप का वध किया था। ये हर महीने शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को आती है। इस माह 25 मई को मनाई जाएगी।

वैशाख पूर्णिमा

26 मई को वैशाख पूर्णिमा का पर्व है। वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है। इस दिन भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था जिन्होंने बौद्ध धर्म की स्थापना की थी।

नारद जयंती

27 मई को नारद जयंती मनाई जाएगी। नारद जयंती हर साल ज्यषेठ कृष्ण पक्ष की द्वितीय तिथि को मनाई जाती है।

संकष्टी चतुर्थी

हिंदू पंचांग के अनुसार, हर महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को संकष्टी चतुर्थी आती है। इस दिन पूजा- पाठ करने से भगवान गणेश भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरा करते है। तथा उनके दुखों का नाश करते हैं। यह पर्व 29 मई को पड़ने जा रहा है।

Next Story
Share it