अध्यात्म

महाशिवरात्रि 2021: इस शिवरात्रि बन रहा यह महासिद्धी योग, जानिए पंचक एवं राहुकाल का समय

Manoj Shukla
8 March 2021 3:31 PM GMT
महाशिवरात्रि 2021: इस शिवरात्रि बन रहा यह महासिद्धी योग, जानिए पंचक एवं राहुकाल का समय
x
महाशिवरात्रि का पर्व साल 2021 में 11 मार्च को पड़ रहा हैं। यह पर्व हर वर्ष फाल्गुन मास के कृष्णपक्ष चर्तुथदसी तिथि को मनाया जाता जाता हैं। इस दिन लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं। रूद्राभिषेक करते हैं।

महाशिवरात्रि का पर्व साल 2021 में 11 मार्च को पड़ रहा हैं। यह पर्व हर वर्ष फाल्गुन मास के कृष्णपक्ष चर्तुथदसी तिथि को मनाया जाता जाता हैं। इस दिन लोग भगवान शिव की आराधना करते हैं। रूद्राभिषेक करते हैं। मान्यता है कि इस दिन भगवान भोलेनाथ की स्तुति करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। यह शिवरात्रि कई महासिद्धी योगों में के बीच मनाई जाएगी।

महाशिवरात्रि से पंचक की भी शुरूआत हो रही हैं। जानकारों की माने तो 11 मार्च के दिन दोपहर 2. 41 से 12 मार्च को 3.03 मिनट तक चतुर्थदसी तिथि रहेगी। महाशिवरात्रि के दिन सुबह 9 बजकर 24 मिनट से शिव योग रहेगा। तत्पश्चात सिद्धी योग का आरंभ हो जाएगा जो 12 मार्च की सुबह 08 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। ज्योतिषविद्ों की माने तो शिव योग में किए गए कार्य शुभ फलदायी होते हैं तो वहीं सिद्धी योग में किए कार्यो में सफलता की प्राप्ति होती है।

पंचक का समय

हिन्दू पंचांगों की माने तो महाशिवरात्रि के दिन 11 मार्च को सुबह 9.21 बजे से पंचक की शुरूआत होगी। जो 16 मार्च की सुबह 4.44 मिनट तक रहेगा। जानकारों की माने तो पंचककाल में लकड़ी इकट्ठा करना, दक्षित दिशा की ओर यात्रा करना, घर बनवाना, चारपाई आदि खरीदना शुभ नहीं माना जाता हैं। अतः इन कार्यो को छोड़ अन्य कार्य किए जा सकते हैं।

शुभ मुर्हूत

महाशिवरात्रि के दिन पंचांगों में तीन तरह के शुभ मुर्हूत बताए गए हैं। मान्यता है इस मुर्हूत में भगवान शुभ की आराधना करना विशेष फलदायी होता हैं।
ब्रम्ह मुर्हूत- 05.07 बजे से 05.55 तक
अमृतकाल- सुबह 11.02 से दोपहर 12.40 बजे तक।
अभिजीत मुर्हूत- 12.13 मिनट से 01.33 बजे तक।

खड़े ट्रक से भिड़ी स्कार्पियों, एक ही परिवार 6 लोगों की मौत

Akshay की Atrangi Re तो अमिताभ की Jhund फिल्म की आई रिलीज डेट, इस दिन होगी रिलीज

मीरा राजपूत ने शाहिद कपूर से दिया खास चैलेंज, देखें वीडियो

Next Story
Share it