अध्यात्म

Holika Dahan 2022 Date, Puja Vidhi, Subh Muhurat: होलिका दहन 17 मार्च को, जानें होलिका दहन की विधि और मुहूर्त

Holika Dahan 2022 Shubh Muhurat
x
होलिका दहन (Holika Dahan 2022) 17 मार्च को है। आइये जानें होलिका दहन की विधि और मुहूर्त के बारे में..

Holika Dahan 2022: रंगों का त्योहार होली जीवन में उत्साह और मंगल का प्रतीक माना गया है। असत्य पर सत्य की विजय का यह त्यौहार सभी देशवासियों के जीवन में खुशहाली लाए ऐसी कामना आमतौर पर की जाती है। लेकिन केवल कामना करने से काम नहीं चलता। इसके लिए कुछ कार्य भी करने होते हैं। लेकिन सभी कार्य करने का एक निश्चित समय होता है। हम कहना चाहते हैं कि बहुत जल्दी होलिका दहन और उसके बाद फगुआ मनाया जाएगा। होलिका दहन 17 मार्च को है। इस महत्वपूर्ण दिन के लिए यह जानना आवश्यक है कि होलिका दहन किस शुभ मुहूर्त में किया जाए। आइए ले पूरी जानकारी।

कब करें होलिका दहन (Holika Dahan 2022 Kab Hai)

जानकारी के अनुसार 17 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा। इसके लिए बताया गया है कि होलिका दहन के पूर्व पूजा अवश्य करीनी चाहिए। वही होलिका दहन (Holika Dahan 2022 Shubh Muhurat) का समय 9ः20 से 10ः31 तक है। करीब 1 घंटे का समय होलिका दहन के लिए प्राप्त हो रहा है। जानकारों के अनुसार शुभ मुहूर्त (Holika Dahan Subh Muhurat) में होलिका दहन करने पर कई तरह के नकारात्मक शक्तियों का हो जाता है। इसलिए पंचांग में बताए गए समय के अनुसार ही होलिका दहन करें। होलिका की आग ताप ने पर कई तरह के रोग और दोष नष्ट होते हैं।

फगुआ 18 को

होलिका दहन के दूसरे दिन यानी कि 18 मार्च को फगुआ का त्यौहार मनाया जाएगा। इस दिन होली रंगो के रूप में लोगों के जीवन में खुशहाली के लिए लगाई जाएगी। रंगो का त्यौहार जीवन में भी अलग-अलग रंग सजाए इसी कामना के साथ लोग उत्साह के साथ होली का पर्व मनाते हैं। हिंदुस्तान में मनाया जाने वाला यह त्यौहार बहुत ही अजीब लगता है। अन्य दिनों में जब रंग लगने पर लोगों को खराब लगता है। तो वही होली के दिन केवल रंग लगा व्यक्ति ही अच्छा लगता है।

बन रहे विशेष संयोग

आचार्यों की माने तो होली के त्यौहार पर बहुत सोनी योग बन रहा है। इस साल होली में वृद्धि योग अमृत योग सर्वार्थ सिद्धि योग तथा ध्रुव योग बना है। ऐसे में बताया गया है कि होली की पूजा करने पर घर में सुख शांति का वास होता है।

Next Story