अध्यात्म

Garud Puran Tips: गरुण पुराण की इन पांच बातों को अपनाकर प्रसन्न करें माता लक्ष्मी को

Sandeep Tiwari
15 Sep 2021 4:56 PM GMT
Garud Puran Tips: गरुण पुराण की इन पांच बातों को अपनाकर प्रसन्न करें माता लक्ष्मी को
x

 गरुण पुराण 

Garud Puran Tips: गरुण पुराण की इन पांच बातों को अपनाकर कोई भी माता लक्ष्मी को प्रसन्न कर सकता है।

आमतौर पर लोगों का मानना है कि गरुण पुराण (Garud Puran) जीव को बैकुंठलोक तक पहुंचाने का साधन है। मृत आत्मा की शांति के लिए 10 दिनों तक गरुण पुराण का पाठ (Garud Puran Ka Path) उसके परिजनों द्वारा कराया जाता है। लेकिन हमें यह नहीं पता कि गरुण पुराण (Garud Puran) में कई ऐसी रहस्यमई बातें हैं जिनको जानकर समझकर मनुष्य अपने जीवन को सार्थक और सफल बना सकता है। वहीं गरुड़ पुराण (Garud Puran) में लक्ष्मी माता (Laxmi Mata) को प्रसन्न करने के लिए कुछ विशेष बातें बताई गई है आता है की गरुण पुराण की उन पांच बातों को जीवन में शामिल कर व्यक्ति धनवान हो सकता है

क्या है गरुड़ पुराण (Garud Puran) की पांच बातें

गरुण पुराण (Garud Puran) में बताया गया है कि यदि कोई व्यक्ति माता लक्ष्मी की कृपा पात्र बनना चाहता है तो उसे पांच अवगुणों को त्यागना होगा। जिसमें ज्यादा भोजन ना करना, निष्ठुर बोलना, सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सयन का त्याग करना होगा।

ना पहने गंदे कपड़े, ना दात रखें गंदे

आमतौर पर प्रतिदिन सुबह दैनिक क्रिया में दांतो की सफाई आवश्यक रूप से करनी चाहिए। ऐसा न करने वालों पर माता लक्ष्मी कृपा नहीं करती। वही मैले-कुचैले वस्त्र धारण करने वालों पर भी माता की कृपा नहीं होती। इसलिए हमें सदैव साफ वस्त्र और दांतो की सफाई अवश्य करनी चाहिए।

सूर्योदय के पूर्व जगे

अगर किसी को माता लक्ष्मी की कृपा चाहिए तो उसे प्रतिदिन सुबह सूर्योदय के पूर्व जग जाना चाहिए। साथ ही सूर्यास्त के समय कभी भी नहीं सोना चाहिए। इसमें बालक और रोगी को छूट दी गई है। सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सोने वाले पर माता लक्ष्मी अपनी कृपा कभी नहीं करती।

अधिक भोजन से करें परहेज

व्यक्ति को सदैव सामान्य और संतुलित भोजन करना चाहिए। ऐसा करने से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है वही माता लक्ष्मी की कृपा भी बनी रहती है। ऐसा हमारे गरुड़ पुराण में बताया गया है।

मधुर बोले

वैसे भी हमारे कई विद्वानों द्वारा मधुर बोलने के लिए कहा गया है। लेकिन इस बात की चर्चा गरुण पुराण में की गई है। मधुर बोलने वाले व्यक्ति पर माता लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है।

Next Story
Share it