सिंगरौली

बस 24 घंटे और इंतज़ार, विन्ध्य में सक्रिय हो जाएगा मानसून, होगी राहत भरी बारिश

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 5:55 AM GMT
बस 24 घंटे और इंतज़ार, विन्ध्य में सक्रिय हो जाएगा मानसून, होगी राहत भरी बारिश
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

रीवा/सतना। अरब सागर में भी मानसूनी हलचल तेज होने से पिछले एक पखवाड़े से प्रदेश की सीमा के आसपास मंडरा रहे मानसून को आगे बढ़ने के लिए ऊर्जा मिलने लगी है। रविवार को वह गुजरात के कुछ हिस्सों सहित मध्यप्रदेश के दक्षिणी-पश्चिमी हिस्से में सक्रिय हो गया है।

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि अब तक गोंदिया के आसपास ठहरा मानसून अगले 48 घंटों में विंध्य अंचल में भी दस्तक दे सकता है। इधर प्री-मानसून की गतिविधियां जारी हैं और रविवार दोपहर भी शहर में तेज बौछारें पड़ीं। ग्रामीण इलाकों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चली और कई स्थानों पर झमाझम बारिश की खबर है। पिछले तीन दिनों से रोजाना आधे-एक घंटे की बारिश और बादलों की आवाजाही के बाद भी गर्मी से राहत नहीं मिल रही। पारा 40 के पार है और उमस हलाकान कर रही है। अब तक दिखीं सिर्फ प्री-मानसून गतिविधियां मानसून में हलचल बढ़ने से जिले में भी प्री-मानसून की गतिविधियों में तेजी आ गई है। हालांकि बारिश तो शुक्रवार शाम और रात को भी हुई थी और शनिवार दोपहर भी शहर में तेज बारिश हुई पर रविवार की सुबह से ही काले बादल आसमान में सक्रिय देखे जा रहे हैं। इसी वजह से दोपहर तक धूप-छांव का खेल चलता रहा। दोपहर 3 बजे के बाद गरज-चमक के साथ बारिश शुरू हो गई। यद्दपि रविवार को बारिश कमजोर ही रही। मौसम विभाग ने 2.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की है। शाम को भी जिले के कई हिस्सों में तेज बारिश हुई और आंधी चली। इसके बाद चली ठंडी हवाओं से लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली। मौसम विभाग के मुताबिक आगे आंधी-पानी का दौर जारी रहेगा।

मददगार साबित हो रहीं दक्षिणी हवाएं मानसून इस बार जिस तेजी से बढ़ रहा था उससे समय से पहले इसके जिले में पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही थी। लेकिन महाराष्ट्र के गोंदिया शहर के आसपास पहुंचने के बाद मानसून की रफ्तार थम गई थी। मौसम विभाग का कहना है कि अरब सागर में भी मानसूनी हलचल तेज होने से मानसून के आगे बढ़ने के लिए ऊर्जा मिलने लगी है। मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। यदि सब कुछ ठीक रहा तो दक्षिण-पश्चिम मानसून 26 जून को विन्ध्य अंचल में भी दस्तक दे सकता है।

Aaryan Dwivedi

Aaryan Dwivedi

    Next Story