vindhyacoronabulletin/durga trivedi .jpg

SHAHDOL : बुजुर्ग के बुलंद हौसले के आगे कोरोना हुआ पस्त

RewaRiyasat.Com
Saroj Kumar Tiwari
29 Apr 2021

शहडोल। यदि कोरोना को मात देना चाहते हैं तो 81 वर्षीय दुर्गा प्रसाद त्रिवेदी जैसी सकारात्मक ऊर्जा का अनुकरण करना होगा। उन्होंने अपनी सकारात्मक सोच एवं सकारात्मक उर्जा के कारण कोरोना जैसी वैश्विक महामारी को मात दी है। उन्होंने खुद कि यदि व्यक्ति में सकारात्मक सोच, सकारात्मक ऊर्जा के साथ-साथ दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो वह कोरोना बीमारी को हर हाल में हरा सकता है।

दुर्गा प्रसाद त्रिवेदी कोरोना पीड़ित मरीजों के लिए रोल मॉडल साबित हो रहे हैं। उनका कहना है कि जिला प्रशासन एवं मेडिकल कॉलेज शहडोल के चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ के अभूतपूर्व चिकित्सकीय सेवा भाव से वे स्वस्थ हुए हैं। उन्होंने सभी नागरिकों को से अपील की है की कोरोना संक्रमण से बचने के लिए शासन के दिशा निर्देशों का पालन करें।

हर व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा का भंडार

दुर्गा प्रसाद का कहना है कि हर व्यक्ति के पास सकारात्मक सोच एवं सकारात्मक ऊर्जा का भंडार रहता है। आवश्यकता इस बात की है उसे सही रूप इस्तेमाल किया जाए। यदि मन में दृढ़ विश्वास हो तो सामान्य कोरोना के मरीज होम आइसोलेशन में रहकर भी शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई मेडिकल किट, रोग प्रतिरोधक काढ़ा का उपयोग कर तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता वाली दवाओं का प्रयोग कर अपने को सुरक्षित कर सकता है।

उन्होंने कहा है कि टीकाकरण भी अवश्य कराएंए क्योंकि टीकाकरण ही वह माध्यम है जो आपके सकारात्मक ऊर्जा एवं सकारात्मक सोच को मजबूत करेगा। त्रिवेदी ने लोगों से कहा है कि वे मास्क का उपयोग करें, शारीरिक दूरी का पालन करें तथा साबुन या सैनिटाइजर से हाथ धाएं, अनावश्यक घर से बाहर ना निकले। यदि इन सब नियमों का पालन करेंगे तो कोरोना महामारी को हराया जा सकता है।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER