2021/04/shahdol-news-corona.jpg

शहडोल में लगा मौतों का अंबार! ऑक्सीजन बाधित होने से 12 की मौत, 24 घंटे में 22 लोगों की जान गई

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
18 Apr 2021

शहडोल। (Shahdol News) जिले के शहडोल में कोरोना के आंकड़े हैरान करने वाले हैं। आए दिन यहां मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखी जा रही हैं। लेकिन इस बीच एक हैरान करने वाली खबर सामने आ रही हैं। खबरों की माने तो जिले के मेडिकल काॅलेज में बीते दिनों ऑक्सीजन बाधित होने से 12 कोविड मरीजों की मौत हो गई। जिससे अस्पताल प्रबंधन में अफरा-तफरी का माहौल व्याप्त हो गया हैं। वहीं जिले में 24 घंटे के अंदर 22 मरीजों की मौत हो चुकी है। खबर है कि यहां अभी तक ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो सकी हैं। 

ऐसे हुई मौतें

रिपोर्ट्स की माने तो शनिवार की देर रात ऑक्सीजन लिक्विड खत्म होने से मरीजों में चीख-पुकार मच गई। लोग ऑक्सीजन के लिए आवाज लगाने लगे। लेकिन ऑक्सीजन की कमी की पूर्ति न होने की वजह से एक के बाद एक 12 मौते हो गई। इस मौत के चलते अस्पताल प्रशासन सहित जिला प्रशासन की नींद उड़ी हुई हैं। हांलाकि प्रशासन इस ऑक्सीजन सप्लाई बाधित और ख़त्म होने वाले परिजनों के आरोपों को सिरे से खारिज कर रहा है।

24 घंटे के अंदर 22 की मौत 

ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने से मरने वालों की संख्या 12 पहुँच गई है। जिले में 24 घंटे के अंदर कुल 22 लोगों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। जिसमें से 10 मौते कोरोना की वजह से और अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के चलते 12 मौते हुई हैं।

लापरवाही उजागर

खबरों की माने तो इस गंभीर लापरवाही की जांच जब मेडिकल प्रशासन द्वारा की गई तो एलओएम सप्लाई बंद पाया गया। जिसकी वजह से एक के बाद एक 12 मौते हुई है। तो दूसरी तरफ खबर यह भी कि मेडिकल काॅलेज के ऑक्सीजन लाने वाला ट्रक दमोह में ट्राफिक में फंसा हुआ था। जिससे यह लेटलतीफी हुई और कोविड सेंटर में यह घटना घटी है। इस पूरी घटना का जिम्मेदार मेडिकल कालेज प्रशासन को माना जा रहा हैं। क्योंकि अगर ऑक्सीजन की कमी थी तो इसका पहले से भण्डारण किया जाना चाहिए। 

शहडोल में लगा मौतों का अंबार, शनिवार देर रात 10 लोगों ने तोड़ा दम, पढ़िए पूरी खबर ...बना है संकट का खतरा

इस पूरे घटना के बाद जिला प्रशासन जांच के लिए मेडिकल कालेज पहुंच चुका है। जहां जिम्मेदारों का कहना है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति रविवार तक बनी रहेगी। यानी कि जब तक ऑक्सीजन की आपूर्ति अस्पताल में नहीं होती है तब तक कोविड-19 मरीजों के लिए यह संकट बना रहेगा। ऐसे में आगे भी मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER