सतना

SATNA: खूनी सड़क का रूप ले रही निर्माण कंपनी की उदासीनता

Saroj Tiwari
25 Nov 2021 7:29 AM GMT
SATNA news
x
सतना समेत मध्य प्रदेश की कई सड़के खूनी सड़क का रूप ले रहीं हैं।

सतना। सड़क निर्माण कंपनियों की लापरवाही आम लोगों के लिये जानलेवा साबित हो रही हैं। देखा जा रहा कि वह चाहे सतना हो अथवा या सीधी, शहडोल सहित प्रदेश भर में ऐसे हालात देखे जा रहे हैं जहां सड़क निर्माण कंपनियां आधा-अधूरा निर्माण कार्य छोड़ दिया जाता और वह आम लोगों के लिये जानलेवा बना हुआ है। आपको बता दें कि तिरुपति बिल्डकॉन द्वारा मैहर सतना बीओटी सड़क का मेंटेनेंस नहीं किये जाने के कारण सड़क के किनारे बनी जानलेवा पटरी खूनी सड़क का रूप लेती जा रही है।

इस सड़क ने कल तक हंसते खेलते परिवार को मौत की नींद सुला दिया। हादसे के कुछ घंटों पहले मासूम बच्चों एवं पूरे परिवार की इस मुस्कुराहट भरी तस्वीर को देखकर किसी का भी कलेजा बैठ गया। सड़क के किनारे की पटरी भरी न होने के कारण अंधे मोड़ की वजह से जीतनगर के पास हुये हादसे में मैहर निवासी सत्यम उपाध्याय, मेनका उपाध्याय, इसानी और स्नेह मौत के आगोश में समा गये।

उठ खड़े हुये सवाल

घटना को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अतुल सिंह ने सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा है कि क्या इस हादसे के बाद जिला प्रशासन कोई सबक लेगा या सड़क में प्रतिदिन इसी तरह खूनी खेल चलता रहेगा। एमपीआरडीसी के अधिकारियों को अपनी जेब में रखकर चलने का दावा करने वाली तिरुपति बिल्डकॉन कंपनी के खिलाफ क्या गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज होगा? इस दर्दनाक हादसे के बाद क्या चंद सिक्कों के लिये एमपीआरडीसी के अधिकारी क्या मुजरा ही करते रहेंगे। श्री सिंह ने आशा जताई कि जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन इस घटना को गंभीरता से लेगा। पता चला है कि इस मामले में पुलिस अधीक्षक द्वारा रात में ही आपात बैठक बुलाई गई और एमपीआरडीसी के अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये गये हैं।

Next Story
Share it