रीवा

जब वो कहते थे तो मजाक लगता था, गच्चा खाए तो बोले ईवीएम...

जब वो कहते थे तो मजाक लगता था, गच्चा खाए तो बोले ईवीएम...
x
रीवा। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्व. श्रीयुत श्रीनिवास तिवारी 15 वर्ष पूर्व जब विधानसभा चुनाव में मिली हार के लिये ईवीएम को जिम्मेदार ठहराया तो तब उनकी ही पार्टी के नेता चुप्पी साधे रहे और यदि कहा जाय कि मजाक बनाते रहे तो गलत नहीं होगा। लेकिन अब जब खुद गच्चा खा गये तो कहा कि ईवीएम के कारण चुनाव हार गये। 

रीवा। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्व. श्रीयुत श्रीनिवास तिवारी 15 वर्ष पूर्व जब विधानसभा चुनाव में मिली हार के लिये ईवीएम को जिम्मेदार ठहराया तो तब उनकी ही पार्टी के नेता चुप्पी साधे रहे और यदि कहा जाय कि मजाक बनाते रहे तो गलत नहीं होगा। लेकिन अब जब खुद गच्चा खा गये तो कहा कि ईवीएम के कारण चुनाव हार गये।
बता दें कि शनिवार को रीवा जिले में कांग्रेस का संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया था जहां पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता अजय सिंह सहित अन्य विधायक व कांग्रेस नेता उपस्थित रहे। कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अजय सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं की मेहनत में कोई कमी नहीं रही है। ईवीएम में धांधली की गई है जिसके कारण चुनाव हार गये। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि यदि बैलेट पेपर से चुनाव कराए जायें तो सच सामने आ जाएगा।
वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए और भाजपा को बैलेट पेपर से चुनाव लड़ने की बात कही। लेकिन अब सवाल यह उठता है कि जब जीत रहे थे तब ईवीएम में गड़बड़ी की बात क्यों नहीं उठाई? जब जीत मिल रही थी तभी ईवीएम मामले में गड़बड़ी बात उठाई जाती तो अच्छा होता, लेकिन अब हार के बाद ईवीएम पर ठीकरा फोड़ना शोभा नहीं देता। लगातार जीत का स्वाद चखने वालों को हार की कड़वाहट विचलित कर रही है। इसीलिए कहा गया है कि जो अपने बड़े बुजुर्गों का सम्मान करता है वह कभी रास्ता नहीं भटकता। बात इसी तरह है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने जब इशारा किया था तो सब अनसुना करते रहे, अब जब रास्ता भटक चुके हैं तो इतनी जल्दी मंजिल वापस कैसे मिल पाएगी?

Next Story