रीवा

नवग्रह वाटिका से सुसज्जित है रीवा का यह कॉलेज, हर छात्र के प्रोजक्ट में एक पौधा, लालन-पालन से मिलेंगे अंक

Viresh Singh Baghel
17 Sep 2021 4:15 PM GMT
नवग्रह वाटिका से सुसज्जित है रीवा का यह कॉलेज, हर छात्र के प्रोजक्ट में एक पौधा, लालन-पालन से मिलेंगे अंक
x
रीवा (Rewa) के आयुर्वेद कॉलेज (Ayurvedic College) में तैयार नवग्रह वाटिका की छात्र कर रहे देख-रेख।

रीवा। पुष्पराजनगर निपनिया में संचालित आयुर्वेद कॉलेज का परिसर नवग्रह वाटिका से सुसज्जित है। छात्रों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा और अच्छा वातावरण मिले इसके इसके लिए आयुर्वेद कॉलेज में अलग-अलग जगहों से पौधों को लाकर और उन्हें लगाकर अग्निवेश वाटिका बनाई गई है। जिसमें औषधीय पौधों के साथ ही एक नवग्रह वाटिका भी तैयार की गई है।

पौधों का अपना है गुण

नवग्रह वाटिका में नवग्रह से संबंधित लगाए गये पौधों का अपना गुण है। ये सभी पौधे-वनस्पतियां, औषधि, फल-फूल, शीतल छाया और शुद्ध वायु आक्सीजन प्रदान करने के साथ-साथ पर्यावरण सरंक्षण में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

गृह नक्षत्रों का महत्व

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भी मानव जीवन में गृह और नक्षत्रों का बड़ा महत्त्व होता है और अब इस बात को माना भी जाने लगा है और इसी को लेकर लोग अपने घरों में नक्षत्रों के हिसाब से पौधे लगाने लगे हैं। क्योंकि भारतीय ग्रंथो और वेद पुराणों के अनुसार इस दुनिया में जो भी घटता है, वह सब ग्रह-नक्षत्रों के द्वारा संचालित, प्रभावित और नियंत्रित होता है।

पौधों के लालन-पालन से छात्रों को मिलेगा अंक

कॉलेज के प्राचार्य डॉ. दीपक कुलश्रेष्ठ ने बताया कि वाटिका में मौजूद एक-एक पौधा यंहा के छात्रों को प्रोजेक्ट के रूप में दिया गया है। छात्र इन पौधों की पूरे साल भर अच्छी तरह से देखरेख करेंगे. छात्रों ने किस तरह पौधों की देखरेख की, इसके आधार पर उन्हें मार्क्स भी दिए जाएंगे। उन्होने बताया कि इस वाटिका में कई औसधीय पौधे भी लगाए गए हैं, जो अलग-अलग बीमारियों के इलाज में काम आते हैं। छात्रों को उन पौधों की उपयोगिता के बारे में भी बताया जाता है, जिससे ये उनके महत्व के बारे में समझ सके और दूसरों को भी बता सकें।

Next Story
Share it