2021/04/rewa-jila-asptal-oxygen.jpg

महज दो घंटे की बची थी ऑक्सीजन, दहशत में आएं लोग तो अलसुबह रीवा डीएम इलैयाराजा ने कराई व्यवस्था

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
28 Apr 2021

रीवा. मंगलवार अलसुबह जिला चिकित्सालय के डॉक्टरों ने कहा कि अब केवल दो घंटे के लिए ऑक्सीजन बची है. इसलिए मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया जाय. इतना सुनते ही मरीजो व उनके परिजनों हो होश उड़ गए. मरीज परिजन दहशत में आ गए और इधर-उधर फोन लगाने लगे. जैसे ही इस बात की सूचना कलेक्टर को मिली उन्होंने अविलंब सिलेंडरों की व्यवस्था की गई तब जान में जान आई. इस दौरान मरीजों की सूचना पर कांग्रेस नेत्री कविता पांडेय भी पहुंच गई. उन्होंने लोगों से बात की, समझाइश दी और जल्द ही व्यवस्था बनाने की बात कही. 

उल्लेखनीय है कि विंध्य का सबसे बड़ा अस्पताल होने के कारण चाहे संजय गांधी अस्पताल हो या सुपर स्पेशलिटी अस्पताल या फिर कुशाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल, यहां न केवल रीवा जिले के मरीजों का उपचार किया जा रहा है बल्कि सतना, सीधी, सिंगरौली, पन्ना एवं अन्य जिलों के भी मरीज उपचार कराने पहुच रहे हैं.

कुशाभाऊ ठाकरे अस्पताल में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन का संकट उत्पन्न होने की नौबत आ पड़ी थी, इससे पहले कि कोई अनहोनी हो जाती, जानकारी मिलते ही जिला अस्पताल जिला कलेक्टर डॅा इलैयाराजा टी खुद पहुच गए और स्थिति को अपने नियंत्रण में लिया. कलेक्टर ने तत्काल संजय गांधी अस्पताल से ऑक्सीजन के 10 सिलेण्डर मंगवाये. वहीं सिंगरौली से भी 40 सिलेण्डर मंगवाये गए.

हालाकि अस्पताल में दो घंटे का बैकअप होने की जानकारी दी गई. बताते हैं कि मंगलवार की अलसुबह जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों से ऑक्सीजन खत्म होने की जानकारी दी गई और उन्हें अन्यत्र कहीं एडमिट होने की सलाह दी जाने लगी. मरीज और उनके परिजन यह सुनकर चिंता में डूब गए और उनमें अफरा-तफरी का माहौल व्याप्त हो गया. अच्छा रहा कि कलेक्टर की सक्रियता से जिला अस्पताल को ऑक्सीजन के सिलेण्डर मिल गए.

50 सिलेण्डर की व्यवस्था हुई

जानकारी मिलने पर रीवा कलेक्टर ने इस समस्या से निजात दिलाई. दस सिलेण्डर संजय गांधी अस्पताल से दिलवाये और 40 सिलेण्डर सिंगरौली से मंगवाये गए. 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER