vindhyacoronabulletin/shop.jpg

REWA : जरूरी सामग्रियों की कालाबाजारी में जुटे व्यापारी, बढ़े दामों में हो रही सामानों की बिक्री

RewaRiyasat.Com
Saroj Kumar Tiwari
21 Apr 2021

रीवा (Rewa News)। कोरोना कर्फ्यू लगने के पहले ही व्यापारियों ने हालात को भांपते हुए जरूरी दैनिक उपयोग की सामग्रियों सहित गुटखा, बीड़ी, सिगरेट, फलों का स्टाॅक करना शुरू कर दिया था। जिसके बाद कोरोना कफ्र्यू के शुरू होते ही दुकानें बंद हो गई और व्यापारियों ने सामग्री की कीमतें बढ़ाकर दोगुना दाम में बिक्री की जाने लगी है। देखा जा रहा है कि जो गुटखा पाउच 10 रुपये बिकते थे अब वह 20 रुपये में बिक रहे हैं और जो पाउच 20 रुपये में बिकते थे अब वह 35 से 40 रुपये में बिक रहे हैं। 

प्रतिबंध का कोई असर नहीं

आपको बता दें कि कोरोना लाॅकडाउन के दौरान धूम्रपान, खुटखा सामग्री की बिक्री पर रोक है। इसके अलावा सार्वजनिक स्थानों थूकने पर प्रतिबंध है। किंतु इसका कोई असर नहीं है। जिले में इन दिनों चोरी छिपे व्यापारी स्टाॅक की हुई सामग्री के दाम बढ़ाकर बेंच रहे हैं। बताया गया है कि जो राजश्री की पैकेट 180 रुपये में मिलती थी वह 300 रुपये में बेंची जा रही है। प्रशासन इस दिशा में कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

व्यापारी बता रहे सामान की किल्लत

सामग्रियों के बढ़े हुए दाम के संबंध में ग्राहकों के द्वारा सवाल किये जाने पर व्यापारियों का सीधा जवाब रहता है कि सामानों की किल्लत मची है इसलिए बढ़े हुए दाम में ही मिलेंगे। जो मिल रहा है ले लो अन्यथा यह भी नहीं मिलेंगे। पिछले साल भी लाॅकडाउन के दौरान व्यापारियों द्वारा कालाबाजारी की गई थी। इस बार भी वही हाल चल रहा है। यही नहीं होम डिलेवरी में भी मनमानी चल रही है। प्रशासन द्वारा सामानों की कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों पर निगरानी रखते हुए बढ़े दामों में सामनों की बिक्री करने पर कार्रवाई को लेकर ध्यान आकृष्ट कराया गया है। 
 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER