vindhyacoronabulletin/hanuman ji .jpg

REWA : नाशे रोग हरे सब पीड़ा जो सुमिरे हनुमत बलवीरा की स्तुति कर लोगों ने कोरोना संकट से मुक्ति के लिये की प्रार्थना

RewaRiyasat.Com
Saroj Kumar Tiwari
27 Apr 2021

रीवा। कोरोना के छाये संकट के बीच भगवान हनुमान जी की जयंती मंगलवार को पूरे भक्ति भाव के साथ मनाई गई। इस दौरान भक्तों ने कोरोना संकट निजात के लिए हनुमान जी से प्रार्थना की। इस संकटकाल में घर-घर हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। हनुमान चालीसा की पंक्ति नाशे रोग हरे सब पीड़ा, जो सुमिरे हनुमत बलवीरा लोगों के लिए केंद्र बिंदु रही।

आपको बता दें कि परिवार के लोगों ने एक साथ बैठकर कोरोना महामारी से छुटकारा दिलाने की प्रार्थना की और इसी तरह मंदिरों में भी विनती आमजन के सुरक्षार्थ की गई। मंदिरों में भीड़ कम रही, मंदिर खुले होने के बावजूद द्वार पर ही मत्था टेक कर अपने परिवार के अच्छे स्वास्थ्य लाभ की कामना की गई। इस वर्ष पूजा सभी हनुमान मंदिरों में सादगी के साथ मनाई गई सीमित लोगों के बीच जयंती की पूजा संपन्न कराई गई। ज्यादातर लोगों ने घरों में जयंती मनाई और पूजा अर्चना की।

चिरहुलानाथ मंदिर समेत जगह-जगह विशेष पूजा अर्चना हुई

मंदिरों में हनुमान जी की प्रतिमा का सिंदूर, चमेली के तेल, चांदी के वर्क से श्रृंगार किया गया। तत्पश्चात हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ किया गया। शहर के चिरहुलनाथ मंदिर के साथ जगह-जगह हनुमान जी की स्तुति गाई गई। इस दौरान हनुमान मंदिरों में पूजा आराधना, हवन अनुष्ठान आरती करके विश्व के समस्त प्राणियों के स्वास्थ्य की कामना की गई। लोगों को पूरा विश्वास है कि जिस तरह से देश भर कोरोना संकट छाया हुआ है उससे निजात के लिए अब मात्र हनुमान जी ही सहारा हैं।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER