रीवा

Rewa News: वन रक्षक 6 हजार रूपये की रिश्वत लेते ट्रैप, दर्ज मामले को निपटाने मांगी थी 10 हजार रकम

Viresh Singh Baghel
25 Nov 2021 1:16 PM GMT
Bribe
x

Bribe

रीवा में लोकायुक्त ने रिश्वत के मामले में वन रक्षक के खिलाफ की कार्रवाई।

Rewa Bribe News in Hindi : रीवा। दर्ज मामले को निपटाने के एवज में 6 हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रीवा के गोविंदगढ़ वन क्षेत्र में पदस्थ वन रक्षक आशीष यादव (Forest Guard Ashish Yadav) को लोकायुक्त की टीम (Rewa Lokayukta Team) ने रंगे हाथों ट्रेप किया है। पकड़े गए वन रक्षक के खिलाफ लोकायुक्त भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम (Prevention of Corruption Act) के तहत मामला दर्ज करके कार्रवाई कर रही है।

फारेस्ट क्वाटर में हुई कार्रवाई

लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि फर्नीचर का कारोबार करने वाले रामविश्वास विश्वकर्मा ने शिकायत किया था कि वन रक्षक आशीष यादव उससे 4 हजार रूपये रिश्वत ले चुका है और 6 हजार रूपये की मांग कर रहा है। पैसे के लिए वह लगातार उसे परेशान कर रहा है। शिकायत की जांच करवाई गई और शिकायत सही पाए जाने पर गुरूवार को गोविदगढ़ फारेस्ट क्वाटर में उस समय वन रक्षक को पकड़ लिया गया, जब वह 6 हजार रूपये की रिश्वत ले रहा था।

दर्ज मामले को निपटाने मागे थें रूपये

बताया गया है कि फरियादी रामविश्वास विश्वकर्मा की फर्नीचर दुकान है। जंहा वन अमले ने जांच कार्रवाई करके कारोबारी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। उक्त मामले को निपटाने के लिए वन रक्षक 10 हजार रूपये मांग रहा था। जिसमें 4 हजार रूपये पूर्व में फरियादी रामविश्वास दे चुका था जबकि 6 हजार रूपये के लिए वन रक्षक आशीष यादव दबाब बनाए हुए था। जिसके चलते उसने लोकायुक्त की शरण ले ली।

मच गई खलबली

वन रक्षक के खिलाफ लोकायुक्त की 20 सदस्यी टीम के द्वारा कार्रवाई किए जाने से वन विभाग सहित आसपास के क्षेत्र में खलबनी मच गई। हर कोई इस कार्रवाई को लेकर जानकारी लेने में लगा रहा।

ज्ञात हो कि लोकायुक्त लगातार रिश्वत के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। इसके पूर्व पंचायत सचिव को रिश्वत लेते हुए ट्रेप किया गया था, तो वही अब वन रक्षक लोकायुक्त के हाथ लगा है।

Next Story
Share it