vindhyacoronabulletin/jagannath .jpg

REWA : शहर में नहीं निकले भगवान जगन्नाथ, मंदिर में ही भक्तों को दिये दर्शन

RewaRiyasat.Com
News Desk
12 Jul 2021

रीवा। कोरोनाकाल की वजह से दूसरे साल भी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा शहर में नहीं निकाली जा सकी। कोरोना संक्रमण की दृष्टि से रथयात्रा मंदिर परिसर में ही आयोजित की गई। लक्ष्मण बाग स्थित भगवान जगन्नाथ स्वामी ने अपने भक्तों को गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी दर्शन दिए। मंदिर में बनाए गए मंडप में भगवान को विराजमान किया गया, साथ में बलभद्र एवं सुभद्रा भी थे।

इस मौके पर मानस मंडल अध्यक्ष अनुपम तिवारी द्वारा भगवान की आरती उतारी गई। वहीं दीनानाथ शास्त्री के द्वारा विशेष पूजा अर्चना की गई। लक्ष्मण बाग मंदिर परिसर में ही भक्तों को प्रसाद वितरण भी किया गया। बता दें कि लक्ष्मण बाग संस्थान के पुजारी द्वारा सोमवार को भगवान का विधि विधान के अनुसार सिंगार करके विशेष पूजा अर्चना की गई। जगत के नाथ को विशेष पंडाल में विराजित किया गया था।

उल्लेखनीय है कि परंपरा के अनुसार जेष्ठ माह समाप्त होते ही भगवान जगन्नाथ को 108 घड़ो के पानी से महा स्नान कराया जाता है। जिससे उन्हें लू लग जाती है फिर भगवान बीमार हो जाते हैं और उनका इलाज राज्य द्वारा किया जाता है। 15 दिन इलाज और आराम करने के बाद भगवान भक्तों को दर्शन देने नगर भ्रमण पर निकलते हैं। जगत के नाथ भक्तों का हाल जानने के लिए बलभद्र और बहन सुभद्रा के संग भ्रमण करते हैं। भगवान स्वस्थ होने के बाद भक्तों को दर्शन के लिए निकलते थे किंतु कोरोना वायरस की वजह से भगवान की पूजा अर्चना लक्ष्मण बाग स्थित मंदिर में की गई। मंदिर परिसर में भगवान की विशेष पूजा अर्चना कर उन्हें 56 प्रकार के भोग लगाए गए।

मानस मंडल परिवार ने जगन्नाथ स्वामी आरती उतारी

रथयात्रा पर्व के सुअवसर पर आज मानस मंडल परिवार के अध्यक्ष अनुपम तिवारी सहित अन्य सदस्यों द्वारा लक्ष्मण बाग पहुंचकर जगत के जीवन दाता भगवान जगन्नाथ स्वामी के श्री चरणों में आरती पूजा आदि कर प्रार्थना की गई कि इस वैश्विक आपदा कोरोना संकट से जगत के समस्त प्राणियों को राहत प्रदान करें। अगले वर्ष धूमधाम से भक्तों को दर्शन लाभ प्रदान करें। मानस  मंडल रीवा के अध्यक्ष  अनुपम तिवारी ने बताया कि हर वर्ष भगवान जगन्नाथ स्वामी की रथयात्रा का रात्रि विश्राम मानस भवन में होने के बाद दूसरे दिन विशाल प्रसाद वितरण भण्डारे के साथ आरती भजन कीर्तन आदि कर भगवान की उत्साह से सेवा के बाद विदा किया जाता रहा है किन्तु इस बार वैश्विक आपदा कोरोना वायरस संकट के कारण रथयात्रा नहीं निकल रही है। इस महत्वपूर्ण अवसर पर संरक्षक महेंद्र सर्राफ  उपाध्यक्ष, डीपी सिंह, कार्यकारिणी सदस्य डा. दीनानाथ शास्त्री, राममणि मिश्र, डा. प्रेमशंकर सिंह, हीरामन यादव सहित श्रद्धालु जन उपस्थित रहे ।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER