NEWS/collector-ilayaraja-t.jpg

Action में Rewa Collector, शिकायतकर्ता के साथ तहसील कार्यालय पहुंच रीडर को किया निलंबित, मास्क न लगाने पर 2 पर जुर्माना भी ठोंका

RewaRiyasat.Com
Shashank Dwivedi
08 Jun 2021

रीवा (Rewa News) : लोक सेवा गारंटी कानून (Public Service Guarantee Act) के तहत रजिस्ट्री से नामांतरण एक महीने के भीतर किया जाना चाहिए लेकिन जिले की हुजूर तहसील में बाबू की कारस्तानी से 6 महीने बाद भी नामांतरण नहीं हो पाया। आवेदक भटकता रहा लेकिन उसे कोई जबाव नहीं दिया गया।

शिकायतकर्ता पहुंचा कलेक्टर के द्वार  

बताया गया कि उसका आवेदन ही खारिज कर दिया गया है। सोमवार को शिकायतकर्ता जब रीवा कलेक्टर इलैयाराजा टी (Rewa Collector Ilayaraja T)  के पास पहुंचा और अपनी पीड़ा सुनाई तो कलेक्टर सीधे तहसील कार्यालय पहुंचे और मामले की पड़ताल करते हुए जिम्मेदार तहसीदार के रीडर को सस्पेंड करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि रजिस्ट्री से नामांतरण में इतना समय क्यों लगा। इतना ही नहीं लोकसेवा गारंटी कानून के तहत समय पर सेवा न देने पर जुर्माना लगाने का निर्देश दिया। पूछतांछ के दौरान पता चला कि फाइल बाबू वैद्यनाथ चौबे के पास थी। उसके द्वारा बताया कि पटवारी द्वारा प्रतिवेदन नहीं दिया गया है। इस पर कलेक्टर ने बाबू और पटवारी दोनो के खिलाफ कार्रवाई्र के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने कहा कि गरीब की ओर तो भी देखो। कलेक्टर ने यह भी कहा कि लॉक डाउन में कौन सा आदेश आया है कि फाइल को निरस्त कर दो। इस दौरान मौके पर एसडीएम शैलेंद्र सिंह (SDM Shailendra Singh) भी मौजूद रहे। लगभग 10 मिनट तक कलेक्टर तहसील कार्यालय में ही खड़े रहे और जमकर घुट्टी पिलाई।

दरअसल लक्ष्मणपुर खड्डी निवासी अनूप भारतीय द्वारा अपनी मां श्यामकली पटेल के नाम से उसके बाबा द्वारा करायी गई रजिस्ट्रिी का नामांतरण हेतु 18 जनवरी 21 में लोक सेवा केंद्र में आवेदन किया था। आवेदन तहसील कार्य में पड़ा रहा। बाद में लॉक डाउन का बहाना कर फाइल निरस्त कर दी गई। अनूप ने बताया कि उसके द्वारा सभी मूल दस्तावेज जमा किए गए थे इसके बावजूद उसका आवेदन निरसत कर दिया गया।

कलेक्टर द्वारा की गई कार्रवाई के संबंध में एसडीएम शैलेंद्र सिंह (SDM Shailendra Singh) ने बताया कि रीडर व पटवारी को नोटिस देकर जवाब मांगा गया है। सकारात्मक जबाव नहीं देने पर कार्रवाई जायेगी। बताया कि मास्क नहीं लगाने वाले दोनो बाबुओं को पांच-पांच सौ का जुर्माना भी लगाया है।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER